नेता प्रतिपक्ष सहित 5 कांग्रेस विधायकों के निलंबन और उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करने को लेकर सेवादल यंग ब्रिगेड तथा युकां ने भरवाईं में मुख्यमंत्री के खिलाफ गो बैक के नारे लगाए। सीएम के काफिले को काले झंडे दिखाकर विरोध प्रदर्शन भी किया गया। हालांकि भारी पुलिस बल तैनात होने के चलते सेवादल यंग ब्रिगेड तथा युवा कांग्रेस का मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का काफिला रोकने का प्लान सिरे नहीं चढ़ पाया। इस दौरान जयराम गो बैक के नारे लगाए गए और जमकर विरोध प्रदर्शन किया गया। विरोध प्रदर्शन में सेवादल यंग ब्रिगेड प्रदेश संयोजक सुदर्शन बबलू, युकां जिलाध्यक्ष राघव ठाकुर, पूर्व सचिव रवि पराशर, जिला ऊना संयोजक सुनील शर्मा, ब्लॉक संयोजक सौरव शर्मा, ब्लॉक अम्ब के पूर्व अध्यक्ष विकास कश्यप, ब्लॉक संयोजक यंग ब्रिगेड अम्ब सौरव शर्मा, पूर्व कार्यकारी कांग्रेस अध्यक्ष अम्ब विकास शर्मा, डाक्टर रविन्द्र, नरेश बरोटिया, रजनीश शर्मा व जगदीश महाशय, चिंतपूर्णी युकां अध्यक्ष शमशेर अली, तनुज ठाकुर, प्रदेश एनएसयूआई सचिव असलम मोहम्मद, आलिव मोहम्मद, सौरव शर्मा, कर्ण शर्मा, अखिल, आरिफ, रिक्की व अंकुश सहित कई युकां कार्यकर्ता मौजूद थे।

बुधवार को विधानसभा क्षेत्र चिंतपूर्णी के भरवाईं में आयोजित प्रदेश भाजपा महिला मोर्चा के सम्मेलन में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के पहुंचने की खबर मिलते ही सेवादल यंग ब्रिगेड व युवा कांग्रेस कार्यकर्ता हरकत में आ गए और मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाकर उनका काफिला रोकने के लिए सेवादल यंग ब्रिगेड व युकां नेता भरवाईं में जुटना शुरू हो गए। हालांकि इसकी भनक पुलिस प्रशासन को भी लग गई और जिस रूट से मुख्यमंत्री का काफिला गुजरना था, उस रूट पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया। जैसे ही मुख्यमंत्री का काफिला जिला कांगड़ा की ओर से सम्मेलन स्थल की ओर से गुजरने लगा तो उग्र युकां कार्यकर्ता आपे से बाहर हो गए और नारेबाजी के बीच मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाने लगे। भारी पुलिस बल के चलते युकां कार्यकर्ता मुख्यमंत्री का काफिला नहीं रोक पाए। हालांकि युकां कार्यकर्ता नारे लगाने के साथ काले झंडे दिखाते रहे जबकि मुख्यमंत्री का काफिला बिना रुके सम्मेलन स्थल की ओर बढ़ गया।

error: Content is protected !!