Right News

We Know, You Deserve the Truth…

सोशल मीडिया पर दोस्ती कर युवक से किया कुकर्म, वीडियो वायरल करने की धमकी देकर मांगे 2 लाख

ग्रेटर नोएडा से पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का भंडाफोड़ किया है जो सोशल मीडिया के जरिए लोगों को अपने झांसे में फंसाता है और फिर अशलील वीडियो बनकार उनसे भारी रकम ऐंठता है. पुलिस ने इस गैंग के 4 लोगों को गिरफ्तार किया है.

दरअसल, पुलिस को एक शिकायत मिली जिसमें एक युवक ने बताया कि उसके साथ कुछ लोगों ने पहले मारपीट की और फिर कुकर्म किया. पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक आरोपियों ने पहले युवक को सोशल मीडिया के माध्यम से अपना निशाना बनाया और उसके साथ मारपीट व कुकर्म किया.

वहीं, उसकी अश्लील वीडियो बनकार वायरल करने की धमकी दी और उससे 2 लाख रुपये की डिमांड की.

बीटा-2 पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा

बताया जा रहा है कि, आरोपियों में शामिल एक शख्स पहले भी दिल्ली के एमसीडी के असिस्टेंट मैनेजर से एक करोड़ रुपए की फिरौती मांगने के मामले में जेल जा चुका है. जानकारी के मुताबिक आरोपी सोशल मीडिया ग्राइंडर ऐप के माध्यम से लोगों को पहले अपना दोस्त बनाते हैं और फिर उन्हें अपना शिकार बना उनकी अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करते हैं. बीटा-2 पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

ग्रेटर नोएडा बीटा-2 की पुलिस ने इस गैंग का खुलासा किया है. हैरानी की बात है कि दिल्ली-एनसीआर में एक ऐसा गैंग सक्रिय रहा जो समलैंगिक ऐप के माध्यम से लोगों को कॉल कर उनके साथ को कुकर्म कर उनकी अश्लील वीडियो बनाकर उन्हें ब्लैकमेल किया करते थे. सोशल मीडिया पर धमकी देकर उनसे पैसे की डिमांड किया करते थे. सोशल मीडिया ग्राइंडर ऐप के माध्यम से पहले ये गैंग लोगों से दोस्ती करते थे. उसके बाद उन्हें बुलाकर उनके साथ संबंध बनाते थे और फिर उनकी वीडियो बनाकर पैसे की मांग करते हैं. पैसे नहीं देने पर वीडियो वायरल करने की धमकी देते थे.

पीड़ित का वीडियो हुआ वायरल

बीटा-2 कोतवाली प्रभारी रामेश्वर ने बताया कि आरोपियों ने एक युवक से पहले सोशल मीडिया के माध्यम से दोस्ती की उसके बाद उसके साथ कुकर्म किया. फिर उसकी वीडियो बनाकर उससे पैसे की मांग की कुछ पैसे फोन पर के माध्यम से लिए फिर 2 लाख की मांग कर रहे थे. पैसे नहीं देने पर सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल करने की धमकी दे रहे थे. वही पीड़ित युवक का एक वीडियो वायरल हुआ है. जिसमें आरोपी पीड़ित को लात घुसा से पीटते हुए भी दिखाई दे रही है. पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

पुलिस ने बताया कि आरोपी पहचान गौतम पुत्र रामराज निवासी मसौता, थाना सिकन्दराबाद जनपद बुलन्दशहर का रहने वाला है. वहीं, गौरव पुत्र रामराज निवासी मसौता थाना सिकन्दराबाद जनपद बुलन्दशहर का रहने वाला है. तीसरा सचिन पुत्र प्रेम सिंह निवासी मसौता थाना सिकन्दराबाद जनपद बुलन्दशहर का रहने वाला है. वहीं, चौथा मोहित पुत्र आजाद निवासी मसौता थाना सिकन्दराबाद जनपद बुलन्दशहर को थाना क्षेत्र के सी-68 बीटा 1 से गिरफ्तार किया गया है.

आरोपियों ने पीड़ित से मांगे 2 लाख रुपये

पुलिस ने आरोपियों से मोबाइल फोन बरमाद किए हैं. बीटा-2 कोतवाली प्रभारी रामेश्वर ने बताया कि पीड़ित ने सूचना दी गई की अभियुक्तों द्वारा वादी के साथ मारपीट कर, बंधक बनाकर जबरदस्ती कुकर्म कर 5000 रूपए फोन-पे के माध्यम से अपने खाते मे ट्रांसफर करा लिए है. वहीं, पूरे घटनाक्रम की वीडियो बनाकर वायरल करने की धमकी देकर 2 लाख रूपए की मांग की गई.

आरोपियों ने पहले भी दिल्ली मे एमसीडी के असिस्टेंट इंजी से 1 करोड रूपए की फिरौती की मांग की गई थी. पुलिस ने चारों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.


error: Content is protected !!