China Strike: चीन की ताइवान पर कमर्शियल स्ट्राइक, कई चीजों के आयात पर लगाई रोक

0
27

चीन (China) के कड़े ऐतराज के बाद भी अमेरिकी संसद की स्पीकर नैंसी पेलोसी (Nancy Pelosi) मंगलवार रात को ताइवान पहुंच गईं. नैंसी पेलोसी के ताइवान (Nancy Pelosi in Taiwan) दौरे से नाराज चीन ने ताइवान को गंभीर नतीजे भुगतने की धमकी दी है.

पेलोसी के ताइवान में उतरते ही 21 चीनी सैन्य विमानों ने ताइवान (Taiwan) की सीमा के अंदर उड़ान भरी. इसके बाद अब चीन ने ताइवान पर कॉमर्शियल स्ट्राइक कर दी है.

ताइवान के आयात पर रोक

दरअसल चीन, ताइवान को अपना हिस्सा मानता है, जबकि ताइवान खुद को एक स्वतंत्र देश कहता है. चीन ने अमेरिका को धमकी दी है कि वह हमारे आंतरिक मामलों में दखल न दे. इसके बाद भी अमेरिकी संसद की स्पीकर नैंसी पेलोसी ताइवान पहुंची हैं. जिससे चीन काफी नाराज है. उसने अब ताइवान पर अपना गुस्सा निकाला है. चीन ने ताइवान के साथ फल समेत कई चीजों के आयात पर रोक लगा दी है. चीन ने ताइवान से होने वाले आयात को भी सोमवार तक के लिए रोक दिया है. इस प्रतिबंध के तहत ताइवान के 35 निर्यातकों की ओर से चीन आने वाले सभी सामानों के आयात पर रोक लगा दी गई है.

चीन-ताइवान में होगा युद्ध?

पेलोसी के ताइवान दौरे से चीन बुरी तरह से बौखला गया है. पेलोसी के ताइवान पहुंचते ही चीनी वायुसेना के 21 लड़ाकू विमानों ने ताइवान की वायुसीमा का उल्लंघन करते हुए उसके देश के अंदर उड़ान भरी. चीन ने ताइवान को भी इसके गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी देते हुए कहा था कि 1.4 अरब चीनी नागरिकों से शत्रुता मोल लेने का अंजाम अच्छा नहीं होगा. वहीं ताइवान के राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय ने कहा कि चीन के सैन्य विमानों के जवाब में, ताइवान ने हवाई गश्ती अभियान शुरू किया है. रेडियो चेतावनी भेजी गई है और चीनी सैन्य विमानों को ट्रैक करने के लिए रक्षा मिसाइल प्रणालियों को तैनात किया गया है.

पेलोसी की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

उधर नैंसी पेलोसी का ताइवान में भव्य स्वागत किया गया. पेलोसी को रिसीव करने के लिए ताइवान की राष्ट्रपति खुद एयरपोर्ट पहुंची. बता दें कि चीन के खतरे को देखते हुए अमेरिका ने पूरी सतर्कता बरती है. अमेरिकी वायुसेना के 8 लड़ाकू विमान और 5 ईंधन भरने वाले विमान अपने सुरक्षा घेरे में पेलोसी के विमान को लेकर ताइवान पहुंचे. इसके अलावा अमेरिका ने एक हफ्ते पहले ही अपनी नैवी के जंगी जहाज को हिंद महासागर में तैनात कर दिया था. जानकारी के मुताबिक पेलोसी का विमान जब ताइवान में उतरा तब एयरपोर्ट की सारी लाइटें बंद कर दी गई थीं. अमेरिका द्वारा इतनी सुरक्षा करने के बाद भी चीन के 21 सैन्य विमान ताइवान की सीमा के अंदर उड़ान भरकर वापस चले गए.

पेलोसी के ताइवान दौरे का मकसद

वहीं पेलोसी ने ताइवानी मीडिया से चर्चा में कहा कि मैं यहां ताइवानी जनता की बात सुनने और यह सीखने के लिए आई हूं कि हम एक साथ कैसे आगे बढ़ सकते हैं? हम ताइवान को कोविड से सफलतापूर्वक निपटने के लिए बधाई देते हैं. पेलोसी ने कहा कि ताइवान सरकार से बातचीत में जलवायु संकट से पृथ्वी को बचाने के लिए मिलकर काम करने पर बात करेंगे. हमारी यात्रा मानवाधिकारों, अनुचित व्यापार परंपराओं और सुरक्षा मुद्दों के बारे में है.

Leave a Reply