पश्चिम बंगाल के हुगली जिले में हुए सनसनीखेज दोहरे हत्याकांड के मामले को पुलिस ने सुलझाकर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस को पहले शक था कि इस हत्याकांड के पीछे महिला का पति है लेकिन जब जांच की गई तो चौंकाने वाली बात सामने आई। जिसने हर किसी को हैरान कर दिया।

पुलिस ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि मृतक महिला का वर्दवान जिले के केतुग्राम में रहने वाले एक 26 साल के युवक के साथ पैसों का लेन देन हुआ था। पैसों के इसी लेनदेन को लेकर कुछ विवाद हुआ और आरोपी ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर हुगली के रिसड़ा में रहने वाली महिला और उसकी 10 साल की बेटी की गला दबाकर हत्या कर दी थी।

इस मामले में जानकारी देते हैं श्रीरामपुर के डीसीपी अरविंद आनंद ने बताया कि पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर अदालत से 14 दिनों के पुलिस कस्टडी की मांगी है। पुलिस ने तीनों आरोपियों को वर्दवान जिले के केतुग्राम से गिरफ्तार किया था। मुख्य आरोपी 26 साल का युवक पेशे से राजमिस्त्री है, जबकि उसके दो साथी राजमिस्त्री और सिलाई का काम करता है।

मृतक महिला का परिचय आरोपी से उसके घर में काम करने के दौरान हुआ था। इस दौरान महिला ने आरोपी से 20 हजार रुपये उधार लिए थे। आरोपी महिला से बार-बार अपने पैसे मांग रहा था और महिला पैसे देने से इनकार कर रही थी साथ ही आरोपी को किसी बात को लेकर ब्लैकमेल भी कर रही थी। इस दौरान राजमिस्त्री महिला को रास्ते से हाटने के लिए एक साजिश रची और अपने दो साथियों के साथ मिलकर महिला की हत्या कर दी। सबूत को मिटाने के लिए आरोपी ने उसकी 10 साल की बेटी का भी मर्डर कर दिया। ऐसा बताया जा रहा है महिला और राजमिस्त्री में अवैध संबंध भी थे। पुलिस इस एंगल से भी इस मामले की जांच कर रही है।

गिरफ्तार आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 , 394 और 201 के अंतर्गत केस दर्ज किया गया है। चंदननगर कमिश्नर सीपी गौरव शर्मा ने बताया कि 24 घंटे से भी कम समय में पुलिस ने सनसनीखेज डबल मर्डर की गुत्थी को सुलझाया है।

error: Content is protected !!