Right News

We Know, You Deserve the Truth…

ठेके सील लेकिन बिक रही अवैध शराब, जिला में 10 दिनों के भीतर 27 केस दर्ज

ऊना: शराब के ठेके बंद क्या हुए कि अवैध ढंग से शराब बेचने वालों का गिरोह तेजी से सक्रिय हो गया है। पुलिस लगातार अवैध शराब तस्करों के खिलाफ कार्रवाई में जुटी है लेकिन दूसरी तरफ एक्साइज का सहयोग पुलिस को पर्याप्त नहीं मिल पा रहा है। एस.पी. ऊना इस बात को स्वीकार कर चुके हैं कि संबंधित विभाग एक्साइज उन्हें सहयोग नहीं कर रहा है। बाकायदा दोनों विभागों के बीच मामले को लेकर पत्राचार भी हुआ  है। एस.पी. ने ठेकों को सील करने की मांग की थी लेकिन उस पर अभी भी कोई कार्रवाई नहीं हुई है। जिला में बार्डर क्षेत्रों से लगातार शराब की कालाबाजारी हो रही है और पुलिस इस पर कार्रवाई में जुटी हुई है।

आंकड़े इस बात के गवाह हैं कि 10 दिनों के भीतर ही जिला में पुलिस ने अवैध शराब के 27 मामले पकड़े हैं। 6 मई कोरोना कफ्र्यू से लेकर 15 मई शनिवार तक पुलिस ने यह मामले जिला भर में पकड़े हैं। सबसे अधिक अवैध शराब के मामले सदर थाना ऊना के तहत पकड़े गए हैं। यानी पंजाब बार्डर के साथ क्षेत्रों सहित कुछ अन्य इलाकों में अवैध शराब कारोबारी सक्रिय हैं। सदर थाना ऊना में अब तक 11, हरोली में 7, गगरेट और हरोली थाना के तहत क्रमश: 4-4 तथा पुलिस थाना भरवाईं के तहत एक मामला पकड़ा गया है। अब तक पुलिस ने 10 दिनों के भीतर पुलिस ने देसी और अंग्रेजी शराब की 6 लाख 46 हजार मिलीलीटर से अधिक शराब तथा 72,800 मिलीलीटर बीयर बरामद की है। जिला में कोरोना कफ्र्यू के बाद से ही ठेके बंद हैं लेकिन चोरी छिपे शराब की बिक्री जारी है।

आंकड़ों के मुताबिक ऊना सदर थाना के तहत देसी शराब की 3,25,604, 1,54,500 अंग्रजी तो 72,200 मिलीलीटर बीयर जब्त की गई है। गगरेट के तहत 17750 देसी, 3000 मिलीलीटर अंग्रेजी शराब, हरोली थाना के तहत 90,750 देसी, 8250 अंग्रेजी तथा 2600 मिलीलीटर बीयर जब्त की है। अम्ब थाना के तहत देसी शराब की 28,200 तथा चिंतपूर्णी थाना के तहत 18,000 मिलीलीटर शराब पकडक़र एक्साइज एक्ट के तहत केस दर्ज किया है।उधर एस.पी. ऊना की तरफ से 8 मई को एक्साइज विभाग को पत्र लिखा गया था जिसमें मांग की गई थी कि कोविड कफ्र्यू के दौरान शराब के ठेकों को सीलबंद कर दिया जाए। एस.पी. ने अपने पत्र में जिक्र किया था कि जिला के कई क्षेत्रों से शराब के ठेकों, दुकान मालिकों एवं बिक्रीकत्र्ताओं द्वारा सरकार के आदेशों की अवहेलना करके गुप्त रूप से शराब बेचे जाने की सूचना है। इस पर कार्रवाई की मांग की गई थी। यही नहीं पत्र में यह भी कहा गया था कि ठेकों के आधे शटर खोलकर चोरी छिपे शराब बेचने के केस भी विभिन्न धाराओं के तहत दर्ज किए गए हैं। एस.पी. ने मांग की थी कि समस्त शराब के ठेकों का निरीक्षण एक्साइज विभाग करे और उपलब्ध शराब के पूर्ण स्टॉक को चैक करके इन्हें सील कर दिया जाए ताकि यह शराब न बिक पाए। उधर एक्साइज विभाग की तरफ से अपने कलैक्टर कम ज्वाइंट कमीश्नर नार्थ जोन पालमपुर से गाइडलाइंस दिए जाने के संबंध  में पत्र लिखा था। हालांकि इस मामले पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। केवल पत्राचार तक ही मामला सीमित है।

एस.पी. ऊना अर्जित सेन ठाकुर ने माना कि 10 दिनों के भीतर अवैध शराब बेचे जाने के 27 केस दर्ज किए गए हैं। कुल देसी और अंग्रेजी शराब की 6 लाख 46 हजार मिलीलीटर से अधिक शराब तथा 72,800 मिलीलीटर बीयर बरामद की गई है। पुलिस लगातार इस संबंध में कार्रवाई कर रही है। एक्साइज विभाग से स्टॉक की गणना के उपरांत ठेकों को सीलबंद करने की मांग की गई थी लेकिन अभी तक इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। पुलिस अपने स्तर पर कार्रवाई जारी रखे हुए है।

error: Content is protected !!