श्रीनगर-बारामुला राजमार्ग पर हुए आतंकी हमले में CRPF के दो जवान शहीद हो गए थे। इनमें से एक अशोक कुमार डोगरा (ड्राइवर कांस्टेबल) का शनिवार सुबह अंतिम संस्कार किया गया। पालमपुर उपमंडल के काहनफट्ट पंचायत के देहरू गांव निवासी अशोक कुमार को राजकीय सम्मान के साथ उनके पैतृक गांव में ही पंचतत्व में विलीन किए गा।

शहीद अशोक कुमार को उनकी पत्‍नी व दोनों बच्‍चों ने सेल्‍यूट करके श्रद्धांजलि दी। अंत्येष्टि में विधानसभा अध्यक्ष विपिन परमार सहित प्रशासनिक व पुलिस अधिकारी मौजूद रहे। CRPF की सैन्य टुकड़ी ने शहीद को राजकीय सम्मान एवं गार्ड ऑफ ऑनर दिया। वहीं, शहीद अशोक को उनके बेटे आदित्य ने मुखाग्नि दी। शहीद का पार्थिव शरीर शुक्रवार को उनके पैतृक गांव देहरू पहुंचा।

शहीद अशोक कुमार का नवंबर 2020 में तबादला हुआ था। उससे पहले वह पिंजौर के ग्रुप केंद्र में कार्यरत थे। 2004 में वह CRPF में भर्ती हुए थे। अशोक चालक के पद पर तैनात थे और उनकी पत्नी सुषमा देवी CRPF में ही ब्यूटी पार्लर की संचालिका के तौर पर कार्य करती है। पत्नी, बेटी आदित्य और बेटी रिदिमा पिछले कुछ सालों से पिंजौर में रह रही हैं।

पिता सरवन कुमार गांव देहरू में रहते हैं। उन्हें बेटे के शहीद होने की सूचना बहू सुषमा से मिली। शहीद अशोक कुमार के दोनों बच्चे पिंजौर ग्रुप केंद्र में बने केंद्रीय विद्यालय में पढ़ते हैं। अशोक कुमार का जन्म 21 फरवरी 1983 को हुआ था। सुनील थोर्पे, DIG ग्रुप केंद्र पिंजौर ने कहा कि शहीद अशोक कुमार हंसमुख और मिलनसार व्यक्ति थे।

By RIGHT NEWS INDIA

RIGHT NEWS INDIA We are the fastest growing News Network in all over Himachal Pradesh and some other states. You can mail us your News, Articles and Write-up at: News@RightNewsIndia.com

error: Content is protected !!