Right News

We Know, You Deserve the Truth…

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- साल के आखिर तक हमारे पास 267 करोड़ वैक्सीन डोज होंगी, इससे पूरी आबादी को वैक्सीन लग सकेगी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बुधवार को कहा कि भारत इस साल के आखिर तक कोरोना की 267 करोड़ डोज हासिल कर लेगा। इससे हम कम से कम अपनी पूरी वयस्क आबादी को टीका लगाने की स्थिति में होंगे। उन्होंने कहा कि वैक्सीन के 51 करोड़ डोज जुलाई तक और 216 करोड़ अगस्त से दिसंबर के बीच उपलब्ध कराई जाएगी। स्वास्थ्य मंत्री ने राज्यों को सलाह दी कि वे अपने सभी हेल्थ केयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन जरूर लगाएं, क्योंकि उन्हें संक्रमण का सबसे ज्यादा खतरा है।

पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्तर के आठ राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ कोरोना के हालात पर की गई वर्चुअल मीटिंग में हर्षवर्धन ने ये बातें कहीं। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल, असम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड, त्रिपुरा, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश में रोज मिल रहे नए केस, डेथ रेट और पॉजिटिविटी रेट काफी ज्यादा है। उन्होंने देश में नए उभरते ट्रेंड की ओर इशारा करते हुए कहा कि अब छोटे राज्यों में कोरोना के केस बढ़ रहे हैं। इस बारे में सतर्क रहने की जरूरत है।

पूर्वोत्तर में बढ़े कोरोना के केस
इस मीटिंग में डॉ. हर्षवर्धन ने पूर्वोत्तर के राज्यों और पश्चिम बंगाल के सामने आने वाली चुनौतियों पर बात की। उन्होंने कहा कि मिजोरम के सभी जिलों में नए केस बढ़ रहे हैं। नगालैंड में एक दिन में मिल रहे संक्रमितों की संख्या 15-20 से 300 तक बढ़ गई है। हफ्ते का पॉजिटिविटी रेट 1% से 34% पहुंच गया है। यहां शहरी और ग्रामीण इलाकों में टेस्टिंग की सुविधा बढ़ाने की जरूरत है।

असम में कामरूप (मेट्रोपॉलिटन) की नए मामलों में हिस्सेदारी लगभग 45% है। मेघालय में पूर्वी खासी हिल्स और रिघबोई में संक्रमण में तेज बढ़ोतरी हुई है। मणिपुर की 78% रिकवरी दर चिंता का विषय है। सिक्किम को सलाह दी गई कि वह कम्युनिटी सर्विलांस मजबूत करे और होम क्वारैंटाइन की सख्त निगरानी की जाए। पश्चिम बंगाल के सभी जिलों में पॉजिटिविटी रेट में तेज बढ़ोतरी हो रही है।

error: Content is protected !!