Right News

We Know, You Deserve the Truth…

मंडी के ब्यास दरिया में पानी छोड़ने से बढ़ा जलस्तर, नाथपा झाकड़ी परियोजना से भी छोड़ा जा सकता है पानी

भीषण गर्मी के कारण पहाड़ों पर बर्फ पिघलने से ब्यास नदी के जलस्तर में वृद्धि हो गई है। इसके कारण अचानक मंगलवार देर रात को पंडोह में ब्यास नदी पर बने बांध में पानी का स्तर अधिकतम पहुंच गया, जिसको देखते हुए पंडोह डैम से बुधवार सुबह 3 बजे प्रबंधन ने नदी में पानी छोड़ दिया है, जिसके चलते मंडी शहर व इसके आसपास इलाकों में भी नदी का जलस्तर बढ़ गया है।

पहाड़ों पर बर्फ के तेजी से पिघलने से बढ़ा जलस्तर

बीबीएमबी पंडोह प्रबंधन ने डैम से नीचे वाले क्षेत्रों के लोगों से सचेत रहने की अपील की है ताकि किसी प्रकार के जानमाल का खतरा न हो। विद्युत एवं यांत्रिक मंडल बीबीएमबी पंडोह के वरिष्ठ कार्यकारी अभियंता राजेश हांडा ने बताया कि भीषण गर्मी के चलते पहाड़ों पर बर्फ तेजी से पिघल रही है, जिसके चलते नदी में पानी बढऩे से पंडोह डैम के जलस्तर में अचानक वृद्धि दर्ज की जा रही है। इसी कारण पंडोह डैम से लगातार पानी छोड़ा जा रहा है।

पंडोह डैम से पानी छोड़ने का क्रम जारी रहेगा, नदी के किनारे न जाएं लोग

उन्होंने बताया कि आने वाले समय में भी पंडोह डैम से पानी छोडऩे का क्रम जारी रहेगा। उन्होंने पंडोह से आगे ब्यास नदी के तट पर रहने वाले सभी लोगों से सतर्क रहने की अपील की है। इसके साथ ही लोगों से नदी के किनारे न जाने व अपने मवेशियों को भी नदी से दूर रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि सभी संबंधित जिला प्रशासनिक अधिकारियों को भी इस बारे में लोगों को सचेत करने को कहा गया है।

नाथपा झाखड़ी परियोजना के डैम से भी छोड़ा जा सकता है पानी

सतलुज नदी का जलस्तर बढऩे से 1500 मैगावाट नाथपा झाकड़ी हाईड्रो पावर स्टेशन के नाथपा डैम में भी पानी की मात्रा बढऩे लगी है, ऐसे में कभी भी डैम का पानी छोड़ा जा सकता है। इस बारे में परियोजना के प्रबंधन ने प्रशासन को सूचित किया है। नदी के किनारे में रहने वाले जनमानस से नदी किनारे पर न जाने व पशुओं को भी चराने के लिए न ले जाने की सलाह दी है। इसके अलावा आमजनमानस को लाऊड स्पीकर व सोशल मीडिया के माध्यम से जानकारी दी जा रही है। उपमंडलाधिकारी रामपुर सुरेंद्र मोहन ने कहा कि नाथपा झाखड़ी परियोजना से कभी भी पानी छोड़ा जा सकता है, ऐसे में नदी के किनारों में रहने वाले लोगों को भी सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं।


error: Content is protected !!