ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज, कृषि, मत्स्य व पशु पालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने आज थाना कलां के अंबेडकर भवन में दिव्यांगजनों को लगभग दो लाख दस हजार रूपए की धनराशि के कृत्रिम अंग व सहायक उपकरण वितरित किए। इनमें एक मोटर ट्राईसाईकिल, 4 विशेष शू, 13 चश्में, 6 व्हील चेयरज़, 13 छड़ियां, 13 दांत, 1 रोलेटर व 1 बैसाखी आदि शामिल हैं।

इस अवसर पर वीरेंद्र कंवर ने कुटलैहड़ विस के 24 अति निर्धन व्यक्तियों को 1.50 लाख रूपए प्रति व्यक्ति की दर से गृह निर्माण के लिए स्वकृति पत्र भी वितरित किए। इसके अलावा उन्होंने 41 लाभार्थियों को अनुवर्ती योजना के तहत सिलाई मशीनें दी गईं।

जनसमूह को संबोधित करते हुए वीरेन्द्र कंवर ने कहा कि प्रदेश सरकार हर समय गरीब लोगों की सहायता के लिए प्रयासरत रही है। उन्होंने कहा कि विकलांगता अभिशाप न बने इसके लिए दिव्यांगजनों को आवश्यकता अनुसार सहायक उपकरण उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। उन्होंने जानकारी दी कि प्रदेश सरकार द्वारा ऐसे निर्धन व्यक्ति जिनके पास घर नहीं हैं अथवा कच्चे घर हैं, को लगभग 13000 मकान उपलब्ध करवाने का लक्ष्य रखा है।

वीरेंद्र कंवर ने कहा कि सरकार ने जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ अंतिम छोर में बैठे निर्धन व जरूरतमंद तक सुगमता से पहुंचाना सुनिश्चित किया है। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा शगुन योजना के तहत लगभग 100 करोड़ रूपये का बजट स्वीकृत किया गया है। जिसके अन्तर्गत निर्धन व बीपीएल परिवार की बेटियों के विवाह पर 31,000 रूपये की सहायता राशि प्रदान की जाएगी। इसके अलावा वृद्धवस्था पेंशन योजना के लिए पात्रता की आयु सीमा को 80 वर्ष से कम करके 70 वर्ष किया गया, ताकि अधिक से अधिक लोगों को कवर किया जा सके। उन्होंने बताया कि इस वर्ष 65 वर्ष की आयु की महिलाओं के लिए 1000 रूपये की पेंशन का प्रावधान किया गया है। जबकि गृहणियों को धुएं से निजात दिलाने के लिए हर घर को गैस कंनेक्शन भी उपलब्ध करवाया गया है।

इस अवसर पर जिला कल्याण अधिकारी चमन शर्मा, सीडीपीओ बंगाणा हरीश मिश्रा, नायब तहसीलदार धर्मपाल नेगी, तहसील कल्याण अधिकारी जितेंद्र शर्मा, भारतीय कृत्रिम अंग निर्माण निगम केंद्र मोहाली के पुनर्वास अधिकारी दयानंद सिहाग, रेड क्रॉस के प्रतिनिधि राज कुमारी सहित अन्य लाभार्थी उपस्थित रहे।

You have missed these news

error: Content is protected !!