Right News

We Know, You Deserve the Truth…

कांगड़ा मे 18 वर्ष से 44 वर्ष आयुवर्ग के लोगों का टीकाकरण 17 मई से शुरू होकर 31 मई तक

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ.गुरदर्शन गुप्ता ने कहा कि जिला कांगड़ा में 18 वर्ष से 44 वर्ष आयुवर्ग के लोगों का टीकाकरण 17 मई से शुरू होकर 31 मई तक चलेगा। कोरोना वैक्सीन सप्ताह में दो दिन सोमवार व वीरवार को ही लगेगी। वे आज धर्मशाला मेे सम्वाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि 18 से 44 वर्ष के आयु वर्ग में 17 मई से केवल उन्हीं लाभार्थियों का टीकाकरण किया जाएगा, जिनकी कोविन पोर्टल और अरोग्य सेतू ऐप पर पंजीकरण के आधार पर टीकाकरण के लिए अप्वाइंटमेंट निर्धारित की गई है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने टीकाकरण के लिए पूर्व में अपना पंजीकरण करवाया है, उन्हें टीकाकरण के लिए पोर्टल पर अपनी अप्वाइंटमेंट फिर से निर्धारित करनी होगी। उन्होंने 18 से 44 वर्ष के आयु वर्ग के लोगों से आग्रह किया है, कि वे उनके लिए पोर्टल पर निर्धारित शेडयूल के अनुसार ही टीकाकरण के लिए टीकाकरण केंद्र पर जाएं, क्योकि बिना निर्धारित शेडयूल के टीकाकरण नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस महीने पांच दिन ही 18 से 44 साल के बीच के लोगों का टीकाकरण किया जाएगा। इसमें 17 मई, 20 मई, 24 मई, 27 मई और 31 मई को वैक्सीन लगाई जाएगी। उन्होंने कहा कि आज बाद दोपहर पोर्टल पर पंजीकरण आरंभ हो जाएगा। उन्होंने कहा कि जिला में टीकारण के लिए 45 केन्द्र बनाए गये हैं जिसमें हर सेंटर में 100 लोगों का टीकाकरण किया जाएगा।उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने एचआरटीसी के चालक-परिचालक, पैट्रोल पम्प पर काम करने वाले कर्मचारियों, पीडीएस डिपो होल्डर, कोविड अभियान में सेवाएं देने वाले शिक्षकों, बैंक और वित्तिय सेवाएं देने वाले कर्मचारी, कैमिस्ट, लोकमित्र केन्द्रों के कर्मचारी, फार्मा उद्योग के वर्कर्स, चाइल्ड केयर इंस्टीच्यूशन में काम करने वाले कर्मचारियों को फ्रंटलाइन वर्कर्स घोषित किया है। अब इन सभी कर्मचारियों को भी टीकाकरण में प्राथमिकता दी जाएगी। इसके लिए अब इन कर्मचारियों को सम्बन्धित अधिकारियों से प्रमाणित दस्तावेज लाने होंगे। इसके बाद ही ये कर्मचारी कोविन पोर्टल पर वैक्सीनेशन के लिए आवेदन कर पाएंगें। उन्होंने बताया कि पैट्रोल पंप के कर्मचारी और पीडीएस डिपो होल्डर फूड एंड सिविल सप्लाई के निरीक्षक से, शिक्षक अपने संबन्ध्णित क्षेत्र के एसडीएम से, बैंक एवं वित्तिय सेवाएं देने वाले कर्मचारी सम्बन्धित बैंक मैनेजर से, कैमिस्ट ड्रग इंस्पैक्टर से, लोकमित्र केन्द्रों में काम करने वाले कर्मचारी आईटी विभाग के सम्बन्धित अधिकारी से, चाइल्ड केयर मे काम करने वाले कर्मचारी महिला एवं बाल विकास विभाग से और फार्मा उद्योग में काम करने वाले कर्मचारी उद्योग विभाग के अधिकारी से वैक्सीनेशन के लिए प्रमाणित दस्तावेज लाएंगे। इसके बाद ही इनकी टीकाकरण की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।
उन्होंने बताया कि कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड लगाने के लिए पहली व दूसरी डोज लगवाने के बीच के समय को बढ़ाया गया है। उन्होंने कहा कि जो लाभार्थी कोविशील्ड वैक्सीन की पहली डोज लगवा चुके है, उन्हें दूसरी डोज 12 से 16 सप्ताह के भीतर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि कोविड पॉजिटिव मरीज ठीक होने के 6 महीने के बाद वैक्सीनेशन करवा सकता है।
उन्होंने कहा कि भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों में सामाजिक दूरी बनाकर रखें। मास्क लगाएं तथा हाथों केा नियमित तौर पर सेनेटाइज करें तथा बुखार, खांसी इत्यादि होने पर नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्रों में स्वेच्छा से कोविड टेस्ट अवश्य करवाएं ताकि कोविड के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

error: Content is protected !!