हरिपुरधार कॉलेज में प्रवक्ताओं के पद रिक्त, एबीवीपी का हल्ला बोल

राजकीय महाविद्यालय हरिपुरधार में स्टाफ की भारी कमी हैं। लगातार रिक्त पदों की मांग करने के बावजूद भी पद भरें नहीं जा सके हैं। खाली पड़े पदों से खफा विद्यार्थी परिषद द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया और मुख्य बाजार में धरना देने के पश्चात रोष रैली निकाली गई। इस दौरान छात्रों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। एबीवीपी के सचिव अक्षत शर्मा ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि राजकीय महाविद्यालय हरिपुरधार में पिछले 1 साल से प्रवक्ताओं के पद रिक्त चले हुए हैं। बार-बार समस्या से अवगत करवाए जाने के बावजूद भी आज तक यहां समस्या का समाधान नहीं हुआ है। जिसके चलते यहां शिक्षा ग्रहण करने आने वाले सैकड़ों छात्रों का भविष्य अंधकार में होता जा रहा है।

उन्होंने कहा कि कॉलेज हिंदी, अंग्रेजी व काॅमर्स आदि मुख्य विषयों के अलावा अन्य कईं पद पिछले 2 वर्षो से खाली पड़े है। पिछले एक वर्ष में 50 से अधिक छात्र इस काॅलेज को छोड़ कर अन्य महाविद्यालयों में एडमिशन ले चुके है। उन्होंने  बताया कि, करीब एक महीना पहले विभाग द्वारा हरिपुरधार काॅलेज में 4 शिक्षकों को प्रतिनियुक्ति पर भेजने की भी बात कही गई थी, मगर अभी तक यहां पर एक भी नए शिक्षक ने ज्वाइन नहीं किया है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि काॅलेज में खाली पड़े पदों को 10 दिनों के भीतर नहीं भरा जाता तो एबीवीपी उग्र आंदोलन करेगी।

error: Content is protected !!