उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में पुलिस की अजब कारस्तानी सामने आई है। यहां दस साल से कम उम्र के दो बच्चों पर छेड़खानी का केस दर्ज कर लिया गया है। दोनों बच्चे मंगलवार को एसपी आफिस गुहार लगाने पहुंचे तो कप्तान शिवहरि मीणा भी चौंक गए। केस दर्ज करने वाले कोतवाल को फटकार लगाई। 

तीन दिन पहले नगर कोतवाली पुलिस ने इन दो बच्चों समेत 4 लोगों पर छेड़खानी का केस दर्ज किया था। नगर कोतवाली के सिटी इलाके की 15 वर्षीय किशोरी ने छेड़खानी और रेप का प्रयास करने का गंभीर आरोप लगाया है। बच्चों का आरोप है कि नगर कोतवाली पुलिस ने मामले की जांच किए बिना ही गंभीर धाराओं में मुक़दमा दर्ज कर लिया।

पुलिस के मुकदमा दर्ज करने से परेशान ये बच्चे एसपी कार्यालय पहुंचे और एसपी से न्याय की गुहार लगाई। एसपी ने मामले में जांच के आदेश देते हुए नगर कोतवाल को ऑफिस बुलाकर फटकार लगाई। इसके बाद एसपी ने दोनों बच्चो को घर वापस भेज दिया।

एसपी शिवहरि मीणा का कहना है कि तीन दिन पहले एक लड़की द्वारा पड़ोस के लड़कों पर छेड़खानी का आरोप लगाया गया था। मुकदमा छेड़खानी की धारा में दर्ज किया था। आरोपी बनाए गए दो बच्चों को एसपी ऑफिस लाया गया। उनकी फरियाद सुनी गई। एसपी ने कहा कि जो भी विधिक प्रक्रिया है, उंसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी। आरोपी पक्ष का कहना है सिर्फ झगड़े की बात थी। छेड़खानी की बात गलत है।

नगर कोतवाली के सिटी इलाके की नाबालिग 15 साल की लड़की ने चार लोगों के खिलाफ मारपीट और रेप के प्रयास का आरोप लगाया गया था। इसके बाद पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर दो बच्चों समेत चार के खिलाफ छेड़खानी का मुकदमा दर्ज किया गया था।

error: Content is protected !!