Right News

We Know, You Deserve the Truth…

डेरे पर मालिकाना अधिकार को लेकर दो किन्नर ग्रुपों की लड़ाई में पांच जख्मी, पुलिस ने दर्ज किया मामला


पटियाला; थाना कोतवाली के अंतर्गत आते जट्टां वाला चौंतरा स्थित एक डेरे के मालिकाना हक को लेकर महंतों के दो गुटों में झड़प हो गई। घटना मंगलवार बाद दोपहर की है, जिसमें सिमरन महंत व शबनम महंत गुट के लोगों के बीच झगड़ा हुआ था। झगड़े में पूनम महंत, लाभो, काजल, सपना, सोनिया जख्मी हुई। वहीं शबनम महंत के चेले पूनम पांडे सहित अन्य जख्मी हालत में ही कोतवाली थाना पहुंच गए। इसके बाद कोतवाली पुलिस पर कार्रवाई न करने के आरोप लगाते हुए फव्वारा चौक पर समर्थकों के साथ पहुंचकर जाम लगा दिया। यहां पर किन्नरों ने कपड़े उतार प्रदर्शन करना शुरू कर दिया, वहीं एक महंत ने खुद को आग लगाने की कोशिश भी की।

धरने के बाद चौक बंद की सूचना मिलते ही सिविल लाइन थाना के इंचार्ज गुरप्रीत सिंह भिडर, चौकी माडल टाउन के इंचार्ज जैदीप शर्मा सहित पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची। इन्होंने तहसीलदार से तालमेल कर उन्हें मांगपत्र दिलवाने व उच्चस्तरीय जांच का भरोसा दिया लेकिन शाम करीब सात बजे तक किन्नर धरने पर ही बैठे थे।

रोड जाम कर पेट्रोल डालने की कोशिश की

पूनम महंत व उसके समर्थकों ने फव्वारा चौक को पूरी तरह से बंद करने के बाद पुलिस व प्रशासन से खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। इस दौरान एक महंत ने पेट्रोल डाल खुद को जलाने की कोशिश की लेकिन मौके पर खड़े थाना सिविल लाइन इंचार्ज इंस्पेक्टर गुरप्रीत सिंह भिडर ने तुरंत रोक दिया लेकिन पेट्रोल के छीटें कई मुलाजिमों पर पड़ गए। इसके बाद पुलिस व ट्रैफिक मुलाजिमों ने ट्रैफिक डाइवर्ट करते हुए इलाके को खाली किया।

यह आरोप लगे हैं सिमरन महंत

जख्मी पूनम महंत ने आरोप लगाया कि उनकी गुरु शबनम ने सिमरन महंत से करीब तीन करोड़ रुपये में डेरा व इसका एरिया खरीद लिया था, जिसके बाद वह मोहाली चली गई। मंगलवार को सिमरन महंत के साथ करीब 100 लोग डेरे पर पहुंचे और तोड़फोड़ करते हुए मारपीट शुरू कर डेरे पर कब्जा कर लिया। मारपीट के दौरान पुलिस में शिकायत करने की बात कही तो सिमरन ने धमकियां दी। जख्मी हालत में ही वह कोतवाली थाना पहुंची थी, जहां पर उनकी शिकायत के बाद भी पुलिस घटनास्थल पर नहीं गई। ऐसे में मजबूरन फव्वारा चौक पहुंचकर जाम लगाना पड़ा। कोई डेरा नहीं बेचा : सिमरन

सिमरन महंत ने कहा कि उन्होंने डेरे की जमीन बेची नहीं है बल्कि दूसरे गुट ने कब्जा करने की कोशिश की। इलाके में अफवाह उड़ा दी कि डेरा बिक चुका है जबकि ऐसी कोई डील नहीं हुई है। मंगलवार को वह डेरे में आई थी, जहां पर उन लोगों पर पूनम व उसके समर्थकों ने हमला कर दिया था।

error: Content is protected !!