पुलिस थाना अम्ब के तहत चूरुडू गांव में दो बहनों के परिवारों में गेहूं की फसल काटने को लेकर विवाद इतना बढ़ गया कि बात मारपीट तक पहुंच गई। सोमवार देर शाम हुई इस मारपीट में दोनों परिवारों की तरफ से चार लोग घायल हुए। पुलिस ने घायलों का मेडिकल करवाने के बाद दोनों तरफ से मिली शिकायतों के आधार पर क्रॉस केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

पुलिस के अनुसार गुगलेहड़ निवासी सुनील कुमार ने शिकायत दर्ज करवाई है कि चूरुडू में उनके ननिहाल में उनका सगा मामा न होने के कारण नाना ने पैतृक भूमि उनकी माता सहित अन्य तीन मौसियों के नाम की है। आरोप है कि उसकी मौसी सत्या देवी व उनके परिवार ने गत रविवार को उनके हिस्से के खेतों में बीजी गेहूं की फसल काट ली।

जब उन्होंने उन्हें रोकना चाहा तो आरोपित उन्हें डराने धमकाने लगे। सोमवार शाम को जब वह मजदूरों के साथ बची हुई फसल को खेतों से समेट रहे थे तो आरोपितों ने मिलकर उन पर व उसकी माता पर डंडों से हमला कर दोनों को लहूलुहान कर दिया।

वहीं, दूसरे पक्ष से जोगिंद्र पाल निवासी चूरुडू ने पुलिस को दी शिकायत में आरोप लगाया है कि सोमवार शाम को जब वह बेटे के साथ खेतों की तरफ जा रहे थे तो उसकी मौसी मुक्ता देवी व उसके बेटे सुनील ने उनका रास्ता रोका और उन्हें आगे नहीं जाने दिया। इसका जब उन्होंने कारण पूछा तो आरोपितों ने उनके साथ मारपीट शुरू कर दी। इस कारण उन्हें चोटें आई हैं।

error: Content is protected !!