500 से ज्यादा लोगों को ठगने वाले दो साइबर अपराधी मनाली से गिरफ्तार, शिमला में कर चुके है वारदातें

Read Time:3 Minute, 23 Second

देश के पांच राज्यों में साइबर क्राइम को अंजाम देने वाले दो शातिर युवकों को कुल्लू पुलिस के साइबर सैल ने मनाली से पकड़ कर सलाखों के पीछे धकेल दिया है। यह दोनों गुजरात, मुंबई, दिल्ली, नोयडा, यूपी तथा हिमाचल में कई लोगों को गूगल पे, पेटीएम, फोन पे और ओएलएक्स के माध्यम से ठगी करके निशाना बना चुके हैं। एसपी कुल्लू गुरदेव शर्मा ने बताया कि दोनों युवकों की पहचान 23 वर्षीय अंश श्रीवास्तव निवासी मोफिया मंडी दमदिया झंबाडा पटना बिहार और मुकेश पटेल निवासी लाटू बाबू लेन कोलकात्ता के रूप में हुई।

मुकेश पटेल मुख्य आरोपी है। इसका दूसरा पता भवननगर, तिलकनगर दीपक चौक गुजार का का भी है। एसपी ने बताया कि दोनों ने अभी तक 500 से ज्यादा लोगों को ठगी का शिकार बना दिया है। ठगी करने का तरीका इतना नायाब था, ताकि पुलिस उन तक न पहुंच पाए।

यह 2000 से लेकर 20000 तक ही ठगी करते थे, ताकि दुकानदार रिपोर्ट न करें और और कर ही दे तो पुलिस छोटा अमाउंट होने पर अभियोग दर्ज न करें। दोनों किसी भी दुकान में चले जाते और वहां पर शॉपिंग करते थे। जब पैसे देने की बारी आती तो दुकानदार को पेटीएम, फोन पे व गूगल पे करने का हवाला देकर नकली ट्रांजेक्शन करते थे। इन लोगों ने शिमला में पांच से सात घटनाएं की और अब कुल्लू, कसौल और मनाली में घटनाओं को अंजाम दे रहे थे। जिला कुल्लू के जरी चौकी के अंतर्गत एक दुकान में यह दोनों अपराधी 30 जून को गए और वहां पर अपने लिए 12 हजार रुपए के कपड़े की खरीद की। जब पैसे देने की बारी आई तो दुकानदार को कहा कि हम पेटीएम कर देते हैं और नकली ट्रांजेक्शन दुकानदार के सामने दिखाई और कहा कि आपके खाते में हमने 9000 रुपए भेज दिए हैं और तुरंत गाड़ी में बैठकर वहां से मनाली के लिए रवाना हो गए। दुकानदार के खाते में पैसे नहीं आए तो उसने पुलिस चौकी जरी में रिपोर्ट कर दी। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज करके साइबर सैल को सूचित किया और साइबर सैल की टीम ने दोनों आरोपियों को टेक्निकल सर्विलांस के माध्यम से मनाली से पकड़कर कुल्लू पहुंचा दिया। यह आरोपी जहां भी होटल में यह रहे हैं, वहां पर नकली आधार कार्ड दिया है। आरोपी एक हजार के आसपास नकली मेल आईडी बना चुके हैं तथा वर्चुअल नंबर का प्रयोग करते हैं। कसौल में एक होटल वाले से 18600 रुपए की ऑनलाइन ठगी की है।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!