Right News

We Know, You Deserve the Truth…

ट्रम्प दबाब बना कर वोट बढ़ाने का प्रयास कर रहा है; ऑडियो वायरल

अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में जो बाइडन ने भारी बहुमत से जीत हासिल की है। नव निर्वाचित राष्ट्रपति बाइडेन 20 जनवरी से पदभार संभालेंगे। इसके बावजूद वर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपनी हार मानने को तैयार नहीं है। डोनाल्ड ट्रंप राष्ट्रपति पद पर बने रहने के लिए नई-नई जुगत भिड़ाने में लगे हुए हैं। हाल ही में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की एक फोन रिकॉर्डिंग सामने आई है। इसमें ट्रंप ने फोन कर जार्जिया प्रांत के शीर्ष चुनाव अधिकारी को अपने जीतने लायक वोटों की जुगाड़ करने के लिए कहा है। 

ट्रंप ने चुनाव में वोटों की गिनती के दौरान हार की ओर बढ़ता देखकर जॉर्जिया के शीर्ष चुनाव अधिकारी को फोन करके चुनाव परिणाम बदलने के लिए फोन करके दबाव डाला। ट्रंप ने चुनाव अधिकारी से कहा कि वह इस दक्षिणी राज्य में उनकी हार को जीत में बदलने के लिए पर्याप्त वोटों की तलाश करें। 

ट्रंप ने वोट बढ़ाने को किया टेलीफोन
अमेरिकी मीडिया में शनिवार को राष्ट्रपति डोनाल्ट ट्रंप के जॉर्जिया के शीर्ष अधिकारी से वोटों की जुगाड़ करने की बात करने वाली रिकॉर्डिंग जारी की गई है। दरअसल, ट्रंप ने जॉर्जिया के सेक्रटरी ऑफ स्टेट और रिपब्लिकन नेता ब्राड रफेनस्पेर्गर को यह फोन कॉल ऐसे समय पर किया था, जब अमेरिकी कांग्रेस में उनके कुछ सहयोगियों ने बाइडन के जीत का औपचारिक प्रमाण पत्र देने का विरोध करने का फैसला किया था। अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में जो बाइडन को 306 और ट्रंप को 232 वोट मिले थे। यही नहीं बाइडन को ट्रंप के मुकाबले 70 लाख ज्यादा पॉप्युलर वोट मिले थे।

ट्रंप बोले, मुझे सिर्फ इतने ही वोट चाहिए
अमेरिकी मीडिया में आए ऑडियो में ट्रंप बार-बार ब्राड रफेनस्पेर्गर पर इस बात के लिए दबाव डाल रहे हैं कि वह बाइडन की बजाय उन्हें विजेता घोषित करें। ट्रंप ने कहा, ”मैं बस यही चाहता हूं कि आप यह करो। मैं केवल 11,780 वोटों की तलाश करना चाहता हूं, यह जो हमारे पास है, उससे ज्यादा है।”  ट्रंप ने कहा कि आप जानते हो कि यह कहने में कोई गलत नहीं है कि आपने वोटों की फिर से गणना की है।

ट्रंप ने अधिकारी को परिणाम भुगतने की धमकी दी

इसके जवाब में रेफेनस्पर्जर ट्रंप से कह रहे हैं कि जॉर्जिया के नतीजे सहीं हैं, आप हजारों वोटों से दूर हो। अब कुछ नहीं हो सकता। इसके बाद ट्रंप धमकी भरे लहजे में अधिकारी से कहते हैं कि अगर वह उनका काम करने में विफल रहता है, तो उसे इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। बता दें कि  जॉर्जिया में तीन बार बैलट की गिनती की गई थी जिसके परिणाम स्वरूप बाइडेन के जीत के दो बार परिणाम आए। अंतिम परिणाम में जो बाइडन 11,779 से ज्यादा वोटों से जीत गए थे। जार्जिया में कुल करीब 50 लाख वोट पड़े थे।

अमेरिका में आया सियासी भूचाल
ट्रंप की यह रिकॉर्डिंग सामने आने के बाद जॉर्जिया के लोग गुस्से में हैं। वहीं अमेरिकी राजनीति में एक बार फिर से पारा गरम हो गया है। ट्रंप और ब्राड रफेनस्पेर्गर के ऑफिस ने इस टेप पर कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है। डेमोक्रेटिक पार्टी ने ट्रंप के इस कृत्य की निंदा की है

रिपब्लिकन सांसद दे रहे ट्रंप का साथ
इससे पहले एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया था कि अमेरिका में रिपब्लिकन पार्टी के कई सांसद राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों को पलटने के सिए डोनाल्ड ट्रंप की कोशिशों में उनका साथ दे रहे हैं। ट्रंप यह प्रयास कर रहे हैं कि औपचारिक तौर पर इलेक्टोरल कॉलेज वोट की गिनती और जो बाइडन की जीत पर मोहर लगाने के लिए अगले सप्ताह जब कांग्रेस का सत्र आयोजित किया जाएगा, तब इन परिणामों को खारिज कर दिया जाए।

ट्रंप चुनाव परिणामों में धोखाधड़ी के लगाते रहे हैं आरोप
अमेरिका के सभी 50 राज्यों के इलेक्टोरल कॉलेज में जो बाइडन को 306 वोट मिले हैं। जबकि ट्रंप के हिस्से में 232 वोट आए थे। चुनाव में जीत के लिए इलेक्टोरल कॉलेज के 270 मतों की जरूरत होती है। मतदान के बाद से ही राष्ट्रपति ट्रंप चुनावों में बड़े पैमाने पर धोखाधड़ी होने का आरोप लगा रहे हैं।

error: Content is protected !!