क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने तोड़ा अपने फैन का मोबाइल, फुटबॉल एसोसिएशन ने लगाया 50 हजार पाउंड का जुर्माना और दो मैच का प्रतिबंध

0
9

फुटबॉल के दिग्गज और मैनचेस्टर यूनाइटेड के पूर्व खिलाड़ी क्रिस्टियानो रोनाल्डो को अपने फैन का फोन तोड़ना महंगा पड़ गया है। उन्होंने इसी साल एवर्टन में एक फैन के हाथ से मोबाइल फोन छीन लिया था और उसे तोड़ दिया था। इस मामले पर फुटबॉल एसोसिएशन ने कार्रवाई करते हुए उन पर 50,000 पाउंड (लगभग 49.43 लाख रुपये) का जुर्माना लगाया है। इसके अलावा उन पर दो मैच का प्रतिबंध भी लगाया है।

रोनाल्डो ने हाल ही में मैनचेस्टर यूनाइटेड के साथ अपना अनुबंध खत्म किया है। क्लब ने जानकारी देते हुए मंगलवार को बताया था कि दोनों पक्षों ने आपसी सहमति के बाद यह अनुबंध समय से पहले ही खत्म कर दिया है। 

कहा है मामला?
इसी साल नौ अप्रैल को रोनाल्डो की टीम गुडिसन पार्क में एवर्टन से 1-0 से हार गई थी। इसके बाद रोनाल्डो मैदान से बाहर निकले तो एक फैन उनका वीडियो बना रहा था। टीम की हार से नाराज रोनाल्डो को यह पसंद नहीं आया। उन्होंने, फैन का मोबाइनल छीना और उसे तोड़ दिया। इस विवाद के बाद उन पर एफए ने अनुचित आचरण का भी आरोप लगाया है। एक स्वतंत्र पैनल ने उन्हें दो मैच के लिए निलंबित किया और जुर्माना भी लगाया। इस मामले पर उन्हें मर्सीसाइड पुलिस ने आगाह किया था।

रोनाल्डो ने भी यह स्वीकार किया कि उनका आचरण अनुचित था। यह प्रतिबंध विश्व कप में लागू नहीं होगा और जब भी वह किसी क्लब में शामिल होंगे तो उन्हें ट्रांसफर कर दिया जाएगा, चाहे वह किसी भी देश में क्यों न हों। 

इस घटना के बाद, रोनाल्डो ने इंस्टाग्राम पर माफी मांगते हुए कहा, “मुश्किल क्षणों में भावनाओं से निपटना कभी आसान नहीं होता है, जिसका हम सामना कर रहे हैं। फिर भी, हमें हमेशा सम्मानजनक, धैर्यवान रहना होगा और उन सभी युवाओं के लिए उदाहरण स्थापित करना होगा जो इस खेल को पसंद करते हैं। मैं अपने गुस्से के लिए माफी मांगना चाहता हूं और यदि संभव हो तो, मैं इस समर्थक को निष्पक्ष खेल और खेल भावना के संकेत के रूप में ओल्ड ट्रैफर्ड में एक मैच देखने के लिए आमंत्रित करना चाहता हूं।”

रोनाल्डो ने आरोप स्वीकार कर लिया था लेकिन निलंबन से बचने के लिए व्यक्तिगत सुनवाई का अनुरोध किया था। आठ नवंबर को स्वतंत्र सुनवाई के दौरान, रोनाल्डो ने कहा कि उन्होंने चिंता, अपनी शारीरिक सुरक्षा और भलाई के लिए ऐसा किया था। मैदान पर एवर्टन के फैंस एकत्रित हो गए थे और उनके लिए मैदान छोड़ना जरूरी था। उनके दावों को खारिज करते हुए, पैनल ने कहा कि यह “उनकी भलाई के लिए डर या चिंता के बजाय निराशा और झुंझलाहट की वजह से हुआ था।” पैनल ने रोनाल्डो पर तीन मैचों के लिए प्रतिबंध लगाने की एफए की दलील को भी खारिज कर दिया।

पुर्तगाली सुपरस्टार फिलहाल कतर में 2022 फीफा विश्व कप में भाग ले रहे हैं, जहां उनकी टीम घाना के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेगी।

समाचार पर आपकी राय: