हिमाचल प्रदेश के चंबा जिला के साहू क्षेत्र के जंगलों में औषधीय पौधे कसमल को उखाड़ रहे, तीन लोगों को वन विभाग की टीम ने दबोचा है। विभाग की टीम ने बीस क्विंटल कसमल की खेप को मौके से बरामद किया है। वन विभाग की टीम ने कुछ दिन पूर्व भी कसमल की जड़ों से भरे ट्रक को जप्त किया है। बता दें कि कसमल औषधीय गुणों से भरपूर होती है। जिसके चलते इस की बाजार में कीमत भी काफी महंगी है। इसी के चलते लोग इसका व्यापार करना शुरू कर देते हैं। कसमल की औषधि की जड़ों से विशेष रूप से जॉन्डस और आंखों की दवाइयां बनती है। उसके लिए इसकी तस्करी चंबा जिला के कुछ क्षेत्रों में की जा रही है हालांकि इसे उखाड़ना पूरी तरह से बैन है। लेकिन कुछ तस्कर चोरी-छिपे इसे उखाड़ने में मशगूल हैं। जिसके चलते दुर्लभ यह औषधि तस्करों का शिकार हो रही है। इस औषधि को सिर्फ निजी भूमि से निकालने की अनुमति मिल सकती है इसे कहीं से उखाड़ना वन अधिनियम के तहत कानूनन अपराध है।

error: Content is protected !!