कांगड़ा: सिविल अस्पताल बैजनाथ में वैक्सीन लगवाने आए लोग नियमों को तार-तार करते दिखे। अस्पताल में आलम ऐसा था कि न तो सोशल डिस्टैंसिंग का पालन हो रहा था और न ही कोविड नियमों का। आए दिन कोरोना केस बढ़ रहे हैं, जिसे लेकर प्रशासन की ओर से नियमों का पालन करने की गुहार लगाई जा रही है लेकिन अस्पतालों में इस तरह की लापरवाही कहीं न कहीं घातक सिद्ध हो सकती है। उधर, आयुर्वेद संस्थान के प्राचार्य डॉ. विजय चौधरी ने बताया कि कोरोना की दूसरी लहर से बचाव के लिए मास्क व सैनिटाइजर का प्रयोग व दो गज की दूरी का पालन करना जरूरी है। लोगों को जरूरत के समय ही घर से बाहर निकलना चाहिए व भीड़भाड़ वाले इलाकों में जाने से परहेज करना चाहिए।

कॉलेज प्राचार्य ने बताया कि आयुर्वेद संस्थान पपरोला में कोविड सैंटर पर काम युद्धस्तर पर जारी है तथा एक-दो दिनों में कोविड सैंटर शुरू कर दिया जाएगा। कोविड सैंटर में ऑक्सीजन व अन्य जरूरी उपकरण स्थापित किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि आयुर्वेद चिकित्सालय में नियमित तौर पर ओपीडी चल रही है।

error: Content is protected !!