देश को कश्मीर की बेटी पर गर्व, आयशा अजीज बनी देश की सबसे कम उम्र महिला पायलेट

जम्मू कश्मीर की बेटी ने दुनिया में आज एक नई पहचान बना ली है। 25 साल की आयशा अजीज एयर इंडिया की फ्लाइट उड़ाने के साथ देश की सबसे कम उम्र की महिला पायलट बन गई है। आयशा पर कश्मीर ही नहीं बल्कि पूरा भारत गर्व कर रहा है। आज दुनिया जान गई है कि महिलाएं पुरुषों से किसी भी मायने में कम नहीं हैं। वह हर क्षेत्र में पुरुषों से आगे निकल रही हैं। 

आयशा को हवाई यात्रा करना अच्छा लगता था उन्होंने अपनी खुशी जाहिर करते हुए बताया कि उन्हें हवाई यात्रा करना और लोगों से मिलना अच्छा लगता है। इस वजह से उन्होंने पायलट बनने का निर्णय लिया। आयशा ने कहा कि पायलट बनने के लिए मानसिक रूप से मजबूत होना बहुत ज़रूरी है। हालांकि इस सपने को पूरा करने के लिए आयशा को मेहनत करनी पड़ी। उन्होंने 2011 में महज 16 साल की उम्र में ही स्‍टूडेंट पायलट लाइसेंस हासिल कर लिया था। 

आयशा ने बॉम्‍बे फ्लाइंग क्‍लब से पायलट की ट्रेनिंग ली जहां से उन्हे लाइसेंस मिला। इस दौरान आयशा ने अपनी पढ़ाई पर कोई असर पड़ने नहीं दिया। वह पूरे सप्‍ताह स्‍‍कूल जाती थी और वीकेंड पर विमान उड़ाने की ट्रेनिंग लिया करती थी। आयशा को सिंगल इंजन का सेसना 152 और 172 एयरक्राफ्ट उड़ाने का अनुभव है। उन्हें अपनी 200 घंटे की उड़ान पूरा होने के बाद कॉमर्शियल पायलट का लाइसेंस दिया गया था। 

आयशा अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता को देती हैं। उनका मानना है कि कश्मीरी महिलाओं ने पिछले कुछ वर्षों में काफी प्रगति की है और शिक्षा के क्षेत्र में असाधारण रूप से अच्छा ही किया है। पायलट ने कहा कि नौकरी एक गतिशील काम के माहौल के लिए विषम परिस्थितियों के बावजूद वह जिंदगी में चुनौतियों का खुशी से सामना करने के लिए हमेशा से तैयार थीं और उन्होंने बताया की कश्मीर की महिलाएं तेजी से आगे भी बढ़ रही है। जिससे उनके कश्मीर के लिए गर्व की बात है।

Other Trending News and Topics:
error: Content is protected !!