बजट 2021 में हुई गरीबों, छोटे व्यापारियों और लघु उद्योगों की अनदेखी- राकेश मंढोत्रा

मण्डी : आज हिमाचल प्रदेश आप नेता राकेश मंढोत्रा बजट 2021 के बारे में सत्तारूढ़ पार्टी व केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए बोला कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज जो बिल पेश किया है वह मात्र एक औपचारिक भाषण के रूप में प्रस्तुत किया गया है, क्योंकि उसमें न तो गरीब के फायदे की कोई बात थी और ना ही छोटे व्यापारियों और लघु उद्योगों के लिए फायदेमंद था। देश में कोरोना काल के समय पहले ही बेरोजगारी ने युवाओं की कमर तोड़ कर रख दी है, उसके साथ साथ बजट की ओर उम्मीद की नजरों से देखते वह लोग जो नौकरी पेशा है उन्हें भी टैक्स में कोई छूट नहीं मिली।

यदि हिमाचल के बारे में बात की जाए तो हिमाचल प्रदेश की जनता को इस बजट से बहुत सी उम्मीदें थी। काफी वर्षों से हिमाचल के इंफ्रास्ट्रक्चर जैसा कि सड़क निर्माण एवं राष्ट्रीय मार्ग से रेलवे लाइन का कार्य लगभग अधर में ही लटका पड़ा है तथा केंद्र ने बीते वर्षों में दी गई ग्रांट को भी वापस ले लिया था। इसलिये इस बजट से बहुत सी उम्मीदें थी लेकिन हिमाचल की झोली में कुछ खास नहीं आया। राकेश ने बोला कि केंद्र सरकार में हिमाचल की तरफ से दो दिग्गज नेता होने के बावजूद भी हिमाचल प्रदेश आज कठिनाइयों के दौर से गुज़र रहा है जिसको बजट में कहीं भी प्राथमिकता नहीं मिली। हिमाचल की किसान और श्रमिक देने हालत में है उसके साथ साथी लघु उद्योग भी बंद होने की कगार पर हैं जिनके लिए सरकार ने बजट में कोई ध्यान नहीं रखा।

SHARE THE NEWS:
error: Content is protected !!