पुलिस वाले ने महिला के लिए अश्लील फोटो, कहा, थाने के बाहर आना अकेले…

पटनाः बिहार में खाकी वर्दी पर दाग लगने का सिलसिला जारी है. मुजफ्फरपुर जिले के अहियापुर थाने में तैनात एक पुलिस का कुछ अधिक ही विभत्स चेहरा सामने आया है. जेल में बंद एक युवक की पत्नी की मदद करने की जगह पुलिस उसे ब्लैकमेल कर रही है.

एक सिपाही पर ही महिला की अश्लील तस्वीरें खींचने और वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करने का मामला सामने आया है. महिला ने पुलिसकर्मी पर आरोप लगाया है कि पुलिसकर्मी बाइक चोरी के आरोप में घर में छापेमारी के लिए आया था. इस दौरान उसकी आपत्तिजनक तस्वीर भी खींच ली थी. अब उसी फोटो को वायरल करने की धमकी दे रहा है और ब्लैकमेल कर रहा है.

सिपाही से परेशान महिला ने उसकी बातें रिकॉर्ड की और मीडिया को जारी कर दी. आरोपी सिपाही अहियापुर थाने में तैनात है. महिला ने पुलिसकर्मी पर आरोप लगाया है कि वे फोन कर शाम होने के बाद अकेले मिलने के लिए बुलाता है. तभी तुम्हारा फोटो डिलीट करूंगा. अगर तेज बनने की कोशिश की तो फोटो वायरल कर दूंगा. इस हरकत से वह मानसिक तनाव में है.

उसने थानाध्यक्ष से इसकी शिकायत की, मगर कोई ध्यान नहीं दिया गया. सिपाही और महिला के बीच बातचीत का आडियो वायरल हुआ है. वरीय पुलिस अधिकारी को अभी तक इस मामले की जानकारी नहीं है. अभी तक आरोपित के खिलाफ कोई भी कार्रवाई नहीं हुई है. पीड़िता के अनुसार पुलिस ने बाइक चोरी के आरोप में उसके घर पर छापेमारी की थी.

पति को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. इसी दौरान वह बच्चे को लेकर अस्पताल जाने के लिए कपडे़ बदलने लगी. सिपाही कपडे़ बदलते हुए उसकी तस्वीरें खींच लीं. उन्हीं तस्वीरों को वायरल करने की धमकी देने लगा. पीड़िता ने कहा कि सिपाही रविरंजन के बारे में अहियापुर थानेदार सुनील रजक से शिकायत की थी, लेकिन उन्होंने कोई मदद नहीं की.

आरोपी सिपाही पीड़िता के वॉट्सएप पर भी मैसेज करता था. उसने उसकी तस्वीर भी भेजी थी और कुछ अश्लील बातें लिखी थीं, लेकिन फिर इसे डिलीट कर लिया था. पीड़िता ने इसका स्क्रीन शॉट लिया, लेकिन तब तक वह चैट डिलीट कर चुका था. हालांकि, कुछ मैसेज अभी भी वॉट्सएप पर सुरक्षित हैं. सिपाही ने मोबाइल पर महिला से जो बात की है, उसमें कहा कि थाना के बाहर आना. अकेले ही आना.

चालाकी मत करना, वरना हमसे बुरा कोई नहीं होगा. जब महिला ने पूछा कि वहां आने से क्या होगा? इस पर आरोपित ने कहा कि आओगी तब बताएंगे. तुम्हें कुछ देना होगा, फोटो डिलीट करने के लिए. महिला ने कहा कि क्या देना होगा पैसे? उसने कहा कि आने के बाद बताएंगे. वहीं, अहियापुर थानेदार सुनील रजक का कहना है कि महिला के आरोप निराधार हैं. रविरंजन ने ही उसके पति को गिरफ्तार कर जेल भिजवाया था. इसलिए उसे फंसा रही है.

error: Content is protected !!