भाजपा विरोधी नारे लगाने बारे संगठन ने मांगा जवाब, कहा तीन दिन में दें स्पष्टीकरण

SHARE THE NEWS:

कांगड़ा। उपमंडल ज्वालामुखी के तहत भारतीय जनता पार्टी के तीन पदाधिकारियों को संगठन की तरफ से जब आदेश जारी कर दिया गया है कि 10 मई को ज्वालामुखी विधानसभा क्षेत्र के भडोली में हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर दौरे पर जनसभा के दौरान पार्टी विरोधी नारे लगाए गए हैं।जिसका संज्ञान लेते हुए संगठनात्मक जिला देहरा के अध्यक्ष संजीव शर्मा ने तीन लोगों को अपना-अपना स्पष्टीकरण तीन दिनों में देने को कहा है जिसमें जिला उपाध्यक्ष सरिता धीमान, जिला सचिव देवराज राणा व ग्राम केंद्र प्रमुख मंडल टिहरी ज्वालामुखी आदि हैं।

पढ़ें पूरा मामला क्या है

गांव पंचायत टिहरी के लोग व भाजपा कार्यकर्ता 2018 से विकास खंड कार्यालय टिहरी में खोलने हेतु प्रयासरत थे। उन्होंने चंगर की लगभग सभी पंचायतों के प्रधानों से सहमति पत्र उनके हस्ताक्षर मोहर सहित लिए थे कि जब भी विधानसभा क्षेत्र ज्वालामुखी में विकास खंड कार्यालय खुलेगा तो उसे टिहरी में ही खोला जाए पर बाबजूद इसके विकास खंड कार्यालय टिहरी की बजाय खुंडिया में खोल दिया गया।अब इन लोगों का कहना है कि 10 मई को अपने दौरे के दौरान मुख्यमंत्री ने कोई भी घोषणा टिहरी के लिए नहीं की। जिससे टिहरी की जनता भड़क गई और नारे बाजी करने लगी।

क्या कहना है जिला सचिव देवराज राणा का

जिला देहरा सचिव देवराज राणा का कहना है कि हम स्पष्टीकरण देने को तैयार हैं। देवराज राणा ने कहा कि हमने कोई भी पार्टी विरोधी नारेबाजी नहीं की है यह जो नारेबाजी की बात है वो नारेबाजी आम जनता ने की है क्योंकि जनता अपनी मांगों को मुख्यमंत्री तक पहुंचाने के लिए आई थी पर उनकी मांगे व आवाज मुख्यमंत्री ने नहीं सुनी। हमने कभी भी पार्टी विरोधी गतिविधियां नहीं की हैं। देवराज राणा ने कहा कि मैं भारतीय जनता पार्टी का सच्चा सिपाही हूं। मैंने भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ कभी ऐसी बात व कार्य नहीं किया जिससे भारतीय जनता पार्टी को ठेस पहुंचे।जब मैंने पार्टी के विरुद्ध जब नारे की सुनी तो मुझे खुद ठेस पहुंची जिसके लिए मैं देवराज राणा भारतीय जनता पार्टी से माफी मांगता हूं।

उपाध्यक्ष सरिता धीमान का क्या है कहना

जिला उपाध्यक्ष सरिता धीमान ने कहा कि वो भारतीय जनता पार्टी की सच्ची व पुरानी कार्यकर्ता हैं उन्होंने कभी भी पार्टी विरोधी काम व गतिविधियां नहीं की हैं। उन्होंने हमेशा पार्टी का सहयोग किया है। सरिता धीमान का कहना है कि इस जनसभा में 10000 से ज्यादा लोग उपस्थित थे तथा यह कह पाना मुश्किल है कि किन लोगों ने वहां पर नारेबाजी की है। सरिता धीमान ने कहा कि अगर संगठन ने जबाव मांगा है तो उनको तीन दिन में स्पष्टीकरण दे दिया जाएगा साथ ही कहा कि इस सबसे मुझे भी ठेस पहुंची है तथा सरिता धीमान पार्टी व संगठन से माफी मांगती हूं।

क्या कहना है ग्राम केंद्र प्रमुख टिहरी केहर सिंह का

ग्राम केंद्र प्रमुख केहर सिंह ने भी यही कहा कि हमने अपनी पूरी उम्र पार्टी को दी है।हम भी पार्टी के सच्चे सिपाही हैं अगर अपनी मांगों को लेकर जनता ने ऐसा किया तो यह मामला जनता का है। मिडिया के सामने मैंने कोई भी नारेबाजी नहीं की है तथा यह कहना भी असंभव है कि इतनी भीड़ में किसने नारेबाजी की है। बात स्पष्टीकरण की है तो वो हम पार्टी व संगठन के दे देंगे।


SHARE THE NEWS:

Comments:

error: Content is protected !!