जितनी प्रोएक्टिव स्टार्टअप नीति, उतना ही परिश्रमी स्टार्टअप नेतृत्व भी: पीएम मोदी

RIGHT NEWS INDIA: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शुक्रवार को मध्य प्रदेश की स्टार्टअप नीति लॉन्च की है. इस दौरान उन्होंने कहा कि आज देश में जितनी प्रोएक्टिव स्टार्टअप नीति है, उतना ही परिश्रमी स्टार्टअप नेतृत्व भी है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शुक्रवार को मध्य प्रदेश की स्टार्टअप नीति लॉन्च की है. इस दौरान उन्होंने कहा कि आज देश में जितनी प्रोएक्टिव स्टार्टअप नीति है, उतना ही परिश्रमी स्टार्टअप नेतृत्व भी है.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि स्टार्टअप का दायरा विस्तार बहुत बड़ा है. स्टार्टअप हमें कठिन चुनौतियों का सरल समाधान देते हैं. हम देख रहे हैं कि आज के स्टार्टअप, कल के मल्टी नेशनल्स बन रहे हैं. आज कृषि, रिटेल बिजनेस, स्वास्थ्य क्षेत्र में नए-नए स्टार्ट अप उभरकर आ रहे हैं. उन्होंने आगे कहा कि जब हम दुनिया को भारत के स्टार्टअप इकोसिस्टम की प्रशंसा करते हुए सुनते होते हैं तो हर हिंदुस्तानी को गर्व होता है. 8 साल पहले तक स्टार्टअप शब्द कुछ गलियारों में ही चर्चा का हिस्सा था वो आज सामान्य भारतीय युवा के सपने पूरे करने का एक सशक्त माध्यम बन गया है.

पीएम ने आगे कहा कि भारत में नया करने की, नए आइडिया से समस्याओं के समाधान की ललक हमेशा रही है, लेकिन दुर्भाग्य से जितना प्रोत्साहन, जितना समर्थन पहले के दौर में हमारे युवाओं को मिलना चाहिए था, उतना मिला नहीं. आवश्यकता इस बात की थी कि आईटी रिवोल्यूशन से बने माहौल को चैनलाइज किया जाता, एक दिशा दी जाती, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया. हमने देखा कि एक पूरा दशक घोटालों में, पॉलिसी पैरालिसिस में इस देश की एक पीढ़ी के सपनों को तबाह कर गया.

उन्होंने आगे कहा कि स्टार्टअप के लिए फंडिग भी बहुत अहम है, इसमें उन्हें सरकार की ठोस नीतियों की वजह से मदद मिली. सरकार की तरफ से fund of funds तो बनाया है, स्टार्ट अप को प्राइवेट सेक्टर से जोड़ने के लिए अलग-अलग प्लेट फॉर्म तैयार किए गए. भारत मोबाइल गेमिंग के मामले में दुनिया के टॉप 5 देशों में है. भारत की गेमिंग इंडस्ट्री की ग्रोथ रेट 40% से भी ज्यादा है. इस बार के बजट में हमने एनिमेशन, विजुअल इफेक्ट, गेमिंग कॉमिक (AVGC) इन सेक्टर पर सपोर्ट को भी जोर दिया है.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत के 800 से ज्यादा स्टार्ट अप स्पोर्ट्स से जुड़े हुए हैं. इसमें भी जिस प्रकार से भारत में स्पोर्ट्स का कल्चर बना है, उससे स्टार्ट अप के लिए इस क्षेत्र में अनेक संभावनाएं हैं. हमें देश की सफलता को नई गति देनी है, नई ऊंचाई देनी है.

SHARE THE NEWS:
error: Content is protected !!