सुनहरे भविष्य के लिए स्किल्ड होने का अपना ही महत्व: एन.आर. राव

Read Time:2 Minute, 6 Second

गोहर, सुभाग सचदेवा: औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान चच्योट में वीरवार को विश्व युवा कौशल दिवस के उपलक्ष्य पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर आईटीआई के प्रधानाचार्य एन.आर. राव ने मौजूदा बच्चों को तकनीकी शिक्षा के महत्व के बारे में जागरूक किया। उन्होंने कहा कि आज का युवा कल के समाज, संस्था और संस्थान का हर्ताकर्ता होगा। इसलिए उन्हें सुनहरे भविष्य के लिए विषय पर स्किल्ड होना बड़ा महत्व रखता है।

इस मौके पर उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा युवाओं के उत्थान के लिए चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं से भी अवगत करवाया। राव ने कहा कि दुर्भाग्यवश आज के समय में ज्यादा युवा बेरोज़गार घूम रहे हैं। रोजगार के इतने सीमित अवसर है कि स्किल्ड होने के बावजूद उन्हें कम पैसे वाली नौकरी से गुजारा करना पड़ता है। इन्हीं परिस्थतियों से वाकिफ कराने के उद्देश्य से हर साल 15 जुलाई को दुनियाभर में वर्ल्ड यूथ स्किल डे मनाया जाता है। आज भी ऐसे कई युवा हैं जिनके पास शिक्षा, रोजगार जैसी बुनियादी चीज़ें भी नहीं हैं। इस स्थिति को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र की महासभा ने 2014 में, हर साल 15 जुलाई को विश्व युवा कौशल दिवस मनाने का फैसला किया। तब से लेकर अभी तक हर साल इस दिन को सेलिब्रेट किया जाता है। आमतौर पर इस दिन तरह-तरह के कार्यक्रमों का आयोजन होता है।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!