वायरस को कंट्रोल करने में आगे था देश लेकिन अब प्रधानमंत्री खुद कोरोन संक्रमित

RIGHT NEWS INDIA: न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न (New Zealand Prime Minister Jacinda Ardern) कोरोना वायरस से संक्रमित हो गई हैं.

उनके कार्यालय ने शनिवार को बयान जारी कर बताया कि उनमें वायरस के हल्के लक्षण पाए गए हैं. वह सरकार की उत्सर्जन कटौती योजना और आगामी बजट को लेकर संसद में होने वाली चर्चा में शामिल नहीं होंगी. बयान में बताया गया है, ‘अमेरिका में उनके ट्रेड मिशन के लिए की जाने वाली यात्रा इस समय प्रभावित हो गई है.’ शुक्रवार शाम से अर्डर्न में संक्रमण (Jacinda Ardern Covid-19) के लक्षण दिख रहे हैं.

जैसिंडा अर्डर्न का शनिवार सुबह रैपिड एंटिजन टेस्ट किया गया, जिसमें वह संक्रमण से पॉजिटिव पाई गईं. इस समय उनमें वायरस के हल्के लक्षण हैं और वह 8 मई से आइसोलेशन में हैं. क्योंकि इसी दिन उनके पार्टनर क्लार्क गेफोर्ड भी संक्रमित हो गए थे. चूंकी प्रधानमंत्री का रैपिड एंटिजन टेस्ट किया गया है, इसलिए उन्हें 21 मई की सुबह तक आइसोलेशन में रहना होगा. इस दौरान वह बिना अपने कार्यालय आए घर से ही काम करेंगी. उप प्रधानमंत्री ग्रांट रॉबर्टसन सोमवार को अर्डर्न की जगह मीडिया को संबोधित करेंगे.

बजट और एमिशन प्लान पर बोलीं

वहीं अर्डर्न ने एक बयान में कहा है, ‘ये हफ्ता सरकार के लिए मील का पत्थर साबित करने जैसा है और मैं निराश हूं कि इसके लिए मैं वहां मौजूद नहीं रह सकती. हमारा उत्सर्जन कटौती योजना उस रास्ते को आकार देगा, जिससे हम अपने कार्बन जीरो के लक्ष्य को हासिल कर सकेंगे. वहीं बजट न्यूजीलैंड की स्वास्थ्य प्रणाली के दीर्घकालिक भविष्य और सुरक्षा के बारे में बताता है. लेकिन जैसा कि मैंने इस हफ्ते की शुरुआत में कहा था, इस साल कोविड-19 आइसोलेशन एक अलग अनुभव है, जिससे मेरा परिवार भी अछूता नहीं है.’

वायरस को कंट्रोल करने में आगे था देश

बता दें न्यूजीलैंड उन देशों में शामिल रहा है, जिन्होंने संक्रमण की शुरुआत में ही वायरस को नियंत्रित कर लिया था. वक्त पर सीमाओं को बंद कर और लोगों की यात्रा पर रोक लगाकर यहां लॉकडाउन लागू किया गया था. यहां की सरकार ने कोरोना वायरस के खिलाफ वैक्सीनेशन अभियान भी तेजी से चलाया था. देश की लगभग पूरी आबादी को वैक्सीन लग गई है. वायरस को नियंत्रित करने को लेकर दुनियाभर में न्यूजीलैंड की तारीफ की गई थी. प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न की नीतियों को भी काफी पसंद किया गया था. हालांकि बीते कुछ महीनों से यहां एक बार फिर कोरोना वायरस के आंकड़ों में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है.

Other Trending News and Topics:

Comments:

error: Content is protected !!