सिर्फ iPhone मालिक को ही दिखेगी स्क्रीन, बगल बैठा व्यक्ति कितना भी झांक ले फिर भी कुछ नहीं देख पाएगा

नई दिल्ली। अमेरिकी टेक दिग्गज Apple ने एक नया पेटेंट दायर किया है। इस पेटेंट के तहत iPhone में एक ऐसा फीचर मिलता है जो कि यूजर्स को सिर्फ स्पेशल ग्लासेस के जरिए स्क्रीन पर कंटेंट देखने की अनुमति देता है। अगर असलियत में यह फीचर आ जाता है तो यह आईफोन यूजर्स जो कुछ भी पढ़ रहे हैं या देख रहे हैं उसे आसपास मौजूद लोगों को देखने से रोकेगा। अधिकतर मेट्रो या ट्रेन में ऐसा हो सकता है, जिससे अब लोगों को राहत मिलेगी।

Apple ने इस हफ्ते के शुरू में यूएस पेटेंट और ट्रेडमार्क ऑफिस के साथ दायर किए गए नए एप्पल पेटेंट देखा है। इसमें एक डायग्राम दिखाया जाता है कि कैसे एप्पल अगले लेवल पर जाना चाहता है, जिससे यह कंफर्म हो सके कि आईफोन यूजर्स की प्राइवेसी उनके कंट्रोल में है। इस प्रकार का फीचर लोगों को काफी आकर्षित करेगा, क्योंकि लोग अक्सर मेट्रो ट्रेन के अंदर अपनी स्क्रीन को दूसरों से छिपाते हैं। एप्पल पेटेंट में इस फीचर को प्राइवेसी आईवियर कहा जाता है। इस फीचर को एक ऐसे सिस्टम के तौर पर डिफाइन किया जाता है जो कि इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस पर विजन-करेक्ट ग्राफिकल आउटपुट और स्टैंडर्ड ग्राफिकल आउटपुट दिखा सकती है। सिर्फ जिस व्यक्ति ने स्पेशल ग्लासेस पहने होंगे वहीं पेयर्ड iPhone की स्क्रीन पर कंटेंट को देख सकते हैं। ये ग्लासेस के बारे में ये भी अफवाह है कि एप्पल अपने खुद के मिक्स्ड रिएटिली वाले हेडसेट के अलावा काम कर रहे हैं।

प्राइवेसी आईवियर के असली फीचर्स अभी तक मौजूद नहीं हैं, लेकिन पेटेंट के अनुसार यह फीचर यूजर्स को आईफोन के परफॉर्मेंस पर दिखाए गए ग्राफिकल आउटपुट को ब्लर करने के लिए ग्राफिक्स के साथ बातचीत का मौका देगी। इसके हिसाब से कंटेंट को बदला जा सकता है, जिससे यह बाकी लोगों को ब्लर दिखाई दे, जिन्होंने स्पेशल ग्लासेस नहीं पहने हैं। अगर इस टेक्नोलॉजी की बात करें तो यह इस दौरान काफी ज्यादा नए फायदों वाली लगती है। अगर यह सचमुच आ जाती है तो यह फोन के इस्तेमाल को बहुत बदल सकती है। जैसे कि आप मैसेज, नोटिफिकेशन को चेक कर सकते हैं। इसके साथ ही आप ग्लासेस का इस्तेमाल करके मूवी देख सकते हैं। इस प्रकार फोन को अपने सामने रखना थोड़ा अजीब होगा। ऐसे में जब आपके साथ बैठे लोगों को स्क्रीन पर कुछ नहीं नजर आएगा तो वह उस पर कुछ भी नहीं देख पाएंगे। एक स्मार्ट ग्लासेस पहन कर आप टेक्नोलॉजी का नया इस्तेमाल सीख पाएंगे।

एप्पल के नए पेटेंट से यह साप होता है कि फेस आईडी बायोमेट्रिक के जरिए आईफोन यूजर्स के फेस के अलावा फीचर्स को मैप करने का प्लान हो सकता है। पेटेंट से एक नए सिस्टम के बारे में जानकारी मिलती है जो कि लोगों के बीच उनके हेयर स्टाइल, बियर्ड, मूसटास, ग्लासेस, बिना ग्लासेस, रीडिंग ग्लासेस, सन ग्लासेस और अन्य बातों के आधार पर अंतर कर पाएगी। फिलहाल यह सिर्फ पेटेंट हैं। ऐसा जरूरी नहीं कि ये सचमुच आ ही जाएगी। अगर ऐसा होता भी है तो कंपनियां उन्हें आम लोगों के लिए तैयार करने में भी काफी वक्त ले सकती हैं। अगर इस प्रकार की टेक्नोलॉजी आती है तो वह काफी ज्यादा शानदार हो सकती है।

HOTEL FOR LEASEHotel New Nakshatra

Hotel News Nakshatra for Lease. Awesome Property with 10 Rooms, Restaurant and Parking etc at Kullu.

error: Content is protected !!