Right News

We Know, You Deserve the Truth…

ऑक्सीजन पर आत्मनिर्भर बनेगा प्रदेश : डा. राजीव सैजल

प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के सक्षम एवं संजीदा नेतृत्व में कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है। शीघ्र ही प्रदेश के सभी उच्च चिकित्सा संस्थान ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर हो जाएंगे। यह बात मंगलवार को अपने हमीरपुर दौरे के दौरान स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण व आयुष मंत्री डा. राजीव सैजल ने कही। परिधि गृह हमीरपुर में कोविड-19 महामारी की रोकथाम के प्रबंधों की समीक्षा बैठक में उन्होंने कहा कि कोविड-19 की पहली लहर के दौरान मुख्यमंत्री ने स्वयं आगे आकर नेतृत्व किया और राजनीतिक एवं प्रशासनिक सूझबूझ से फैसले लेते हुए इस महामारी से निपटने के लिए हरसंभव कार्य किया। डा. सैजल ने कहा कि इस वर्ष फरवरी माह के बाद कोरोना दूसरी लहर में और भी भयावह रूप में सामने आया।

प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के सक्षम एवं संजीदा नेतृत्व में कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है। शीघ्र ही प्रदेश के सभी उच्च चिकित्सा संस्थान ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर हो जाएंगे। यह बात मंगलवार को अपने हमीरपुर दौरे के दौरान स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण व आयुष मंत्री डा. राजीव सैजल ने कही। परिधि गृह हमीरपुर में कोविड-19 महामारी की रोकथाम के प्रबंधों की समीक्षा बैठक में उन्होंने कहा कि कोविड-19 की पहली लहर के दौरान मुख्यमंत्री ने स्वयं आगे आकर नेतृत्व किया और राजनीतिक एवं प्रशासनिक सूझबूझ से फैसले लेते हुए इस महामारी से निपटने के लिए हरसंभव कार्य किया। डा. सैजल ने कहा कि इस वर्ष फरवरी माह के बाद कोरोना दूसरी लहर में और भी भयावह रूप में सामने आया।



मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर दोबारा आगे बढ़कर स्वयं मैदान में उतरे। उनके साथ मैंने भी प्रदेश के अधिकांश जिलों का दौरा किया और बिस्तर क्षमता बढ़ाने सहित अन्य व्यवस्थाओं को देखा। इन्हीं तैयारियों का परिणाम है कि आज हम इस महामारी से निपटने के लिए पूरी तरह से सक्षम हुए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोविड-19 टीकाकरण बेहतरीन ढंग से चल रहा है। अभी तक लगभग साढ़े 19 लाख लोगों को टीके की खुराकें दी जा चुकी हैं, जिनमें से 16 लाख से अधिक लोगों को पहली खुराक और शेष लोगों को दोनों टीके लगाए जा चुके हैं। डा. सैजल ने कहा कि प्रदेश को शीघ्र ही एक लाख 60 हजार टीके की खेप प्राप्त होने वाली है। इसके मिलते ही चरणबद्ध ढंग से यहां 18 वर्ष से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण प्रार भ कर दिया जाएगा। उन्होंने हमीरपुर में चलाए जा रहे टीकाकरण अभियान की प्रशंसा करते हुए कहा कि जिला में अभी तक 1,80,827 लोगों को टीका लगाया जा चुका है, जिनमें से 1,52,587 लोगों को टीके की पहली खुराक एवं 28,240 लोगों को दोनों खुराकें दी जा चुकी हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार केंद्रीय सरकार के सहयोग से पीएसए प्लांट स्थापित करने के लिए त्वरित कदम उठा रही है।

हमीरपुर में हाल ही में पीएसए प्लांट स्थापित किया गया है, जो कि इस जिला के लिए एक उपलब्धि है। एक अन्य प्लांट भी यहां प्रस्तावित है। प्रदेश में 6 अन्य स्थानों मंडी, पालमपुर, रोहड़ू, रामपुर, नाहन, एवं सोलन में भी पीएसए ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए जा रहे हैं। उपायुक्त देबश्वेता बनिक ने जिला में कोविड-19 प्रबंधन को लेकर की गई व्यवस्थाओं की जानकारी प्रदान की। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी जितेंद्र सांजटा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय सकलानी, डा. राधाकृष्णन राजकीय मेडिकल कॉलेज की प्रिंसीपल डा. सुमन यादव, एमएस डा. रमेश चौहान, कोविड-19 नोडल अधिकारी डा. अनिल वर्मा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. आरके अग्निहोत्री इत्यादि उपस्थित रहे।

संक्रमितों का पूछा कुशलक्षेम
डा. सैजल ने कहा कि प्रदेश सरकार ने होम आइसोलेशन में रहने वाले संक्रमितों की देखभाल के लिए आवश्यक प्रबंध किए हैं। ऐसे कुछ कोरोना संक्रमितों के साथ वे मानक संचालन प्रक्रियाओं का पालन करते हुए व्यक्तिगत तौर पर भी संपर्क साध कर उनके स्वास्थ्य संबंधी जानकारी प्राप्त कर रहे हैं। गृह पृथकवास में रहने वाले लोगों से प्रबंधों एवं व्यवस्था से संबंधित जानकारी प्राप्त करने के उद्देश्य से उन्होंने यह पहल की है। बिलासपुर के अतिरिक्त आज उन्होंने हमीरपुर शहर के मृदुल चौक एवं पीडब्लूडी कॉलोनी में पहुंचकर संक्रमित व्यक्तियों का कुशलक्षेम पूछा।

error: Content is protected !!