Hidden Cam MMS: आपके साथ ना हो चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी जैसी घटना, हिडेन कैमरे का ऐसे करें पता

0
82

Hidden Camera: चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में नहाती हुई छात्राओं का वीडियो बनाकर उन्हें वायरल करने का मामला बढ़ते ही जा रहा है. फिलहाल पुलिस ने इस मामले में एक लड़की और उसके बॉयफ्रेंड को गिरफ्तार कर लिया है.

खबरों की मानें तो आरोपी लड़की ने 60 लड़कियों के नहाते हुए वीडियो बनाए हैं, जबकि यूनिवर्सिटी प्रशासन ने इस बात से इनकार कर दिया है. इस घटना के बाद लोगों के मन में एक बार सवाल खड़ा कर दिया है कि आखिर लड़कियां अपनी प्राइवेसी को और निजी पलों को कैसे सुरक्षित रखें.

होटल, रेस्टोरेंट और मॉल्स के चेंजिंग रूम में इस तरह के खतरों को लेकर अक्सर बातें होती हैं, लेकिन ये खतरा अब कॉलेज और लड़कियों के हॉस्टल में भी पहुंच जाएगा, इसकी उम्मीद नहीं थी. बहरहाल चंडीगढ़ में हुए इस घटना के बाद हम आपको बताने जा रहे हैं कि किसी जगह पर लगे हिडन कैमरे की पहचान कैसे करें, ताकि आपके साथ ऐसा नहीं है.

ऐसे तलाशें स्पाई कैमरा
अगर आप अपने घर से बाहर हैं और किसी बाथरूम या चेंजिंग रूम का इस्तेमाल कर रहे हैं तो कुछ बातों पर आपको ध्यान हर हाल में रखना चाहिए. इससे आपको समय रहते इस बात की जानकारी हो जाएगी की कहीं कोई स्पाई कैमरा तो नहीं है या फिर छिपकर कोई आपकी रिकॉर्डिंग तो नहीं कर रहा.

संदिग्ध चीजों की करें जांच
अगर आप किसी अनजान जगह पर हैं या किसी होटल के कमरे में आप हैं तो सबसे पहले उस कमरे में मौजूद सभी संदिग्ध चीजों की अच्छे से जांच करें. वहां मौजूद एक-एक सामान को अच्छे से चेक करें और देखें कि उनके अंदर कहीं कोई हिडन कैमरा तो नहीं लगा है. आजकल कैमरे भी बहुत छोटे होते हैं जो आपको नजर तो नहीं आएंगे, लेकिन कैमरा कैसा भी हो, उसमें लैंस जरूर होगा.

होटल के कमरे में जिन चीजों को आपको चेक करना चाहिए, उनमें नाइट लैंप, गेट हैंडल, रोशनदान, फ्लावर पॉट, स्मोक डिटेक्टर, एसी पवार एडेप्टर, टेबल पर रखे सामान, घड़ी, अलार्म सेंसर, दीवारों पर लगी फैंसी लाइट, टेलीफोन वॉल क्लॉक, या छत पर लगे छोटे झूमड़ हो सकते हैं. अगर आप बाथरूम में जा रहे हैं तो वहां मिरर, कांच, वॉटर फ्लश, खिड़की, टूथब्रश होल्डर, लाइट, टॉवेड होल्डर, नल आदि की अच्छे से जांच कर लें. इनमें कहीं भी लैंस जैसा कुछ दिखे तो फौरन सावधान हो जाएं.

फ्लैश लाइट की मदद लें
किसी भी जगह पर लगे छिपे कैमरे को ढुंढने में आपका फोन काफी मददगार साबित हो सकता है. फ्लैशलाइट के रिफ्लेक्शन से कांच के पीछे लगे छिपे स्पाई कैमरे का पता आप आसानी लगा सकते हैं. इस ट्रिक के लिए सबसे पहले आपको उस कमरे की लाइट बंद करनी होगी. इसके बाद अपने मोबाइल का फ्लैश लाइट ऑन कर दें. अब किसी मिरर या सामान के अंदर अगर स्पाई कैमरा फिट होगा तो उसकी ब्लिंक लाइट यानी लैंस वाली लाइट आपको दिखाई देगी. इस तरह आप पता लगा सकते सकते हैं कि उस जगह कोई कैमरा लगा है या नहीं.

अंधेरा करेगा मदद
स्पाई कैमरे का पता लगाने में अंधेरा आपके लिए काफी मददगार साबित हो सकता है. इसके लिए आप कमरे की सभी लाइट को बंद कर दें. फिर अंधेरे में ही पूरे कमरे में नजर दौड़ाएं. अगर कमरे में कहीं कैमरा लगा होगा तो उसकी लैंस या कैमरे की ब्लिंक होती लाइट आपको जरूर दिखाई देगी. अगर अंधेरे में आपको देखने में दिक्कत हो रही है तो आप फोन का कैमरा ऑन करके हर कोने और सामान की जांच करें.

उंगली से कैसे लगाएं पता
अगर बेडरूम या बाथरूम में कोई मिरर लगा है तो कैमरा उसके पीछे भी लगा हो सकता है. अंदर कैमरा लगा है या नहीं इसे चेक करने के लिए आप इस ट्रिक को अपना सकते है. मिरर पर आप अपनी उंगली रखें. मिरर पर उंगली रखने के बाद आपकी असली उंगली और शीशे में दिख रही उंगली के बीच अगर गैप आ रहा है तो डरने की कोई बात नहीं है, लेकिन अगर गैप नहीं बन रहा है तो समझ जाइए कि इसके अंदर कैमरा है.

इन बातों का भी रखें ध्यान

ऊपर बताए गए ट्रिक तो फायदेमंद हैं ही इसके अला अनजान जगहों पर कुछ और बातों पर भी ध्यान देना चाहिए. खासतौर से तब जब आप कपड़े बदल रहे हो या फिर नहा रहे हैं. इसके लिए बाथरूम में गेट, खिड़की और फैंसी रूफ को अच्छे से चेक करें. अगर कोई हिस्सा कहीं से डैमेज लग रहा है तो सावधान हो जाएं. हो सकता है कैमरे के जरिए कोई आप पर नजर रख रहा हो. ये जरूरी नहीं कि खतरा सिर्फ कमरे के अंदर ही हो. कई मामलों में बाथरूम या चेंजिंग रूम के वीडियो बाहर से खड़े होकर भी लोग खिड़की या गेट के सुराख के जरिए वीडियो बना लेते हैं.

समाचार पर आपकी राय: