Right News

We Know, You Deserve the Truth…

इंटरनेशनल साइबर फ्रॉड गिरोह पावर बैंक के 6 कंपनी डायरेक्टर्स अरेस्ट, 360 करोड़ का फ्रॉड आया सामने

पावर बैंक एप के जरिए देशभर में 360 करोड़ के फ्रॉड की अब तक उत्तराखंड एसटीएफ ने जानकारी जुटाई है. एसटीएफ के एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि उत्तराखंड पुलिस द्वारा इंटरनेशनल साइबर फ्रॉड गिरोह के खुलासे के बाद बंगलोर पुलिस द्वारा 6 आरोपियों जो कंपनी डायरेक्टर्स हैं को अरेस्ट किया गया है. इनमें कुछ डायरेक्टर्स उत्तराखंड के केस में भी शामिल हैं. इसके साथ ही दिल्ली पुलिस द्वारा इसी मामले में 5 अन्य आरोपियों को अरेस्ट किया गया है.

बेंगलुरु में लगभग 120 करोड़ और दिल्ली में 150 करोड़ के करीब फ्रॉड मनी ट्रेल की बात प्रकाश में आई है. इस तरह से अब तक 360 करोड़ के फ्रॉड की डिटेल उत्तराखंड पुलिस को मिल चुकी है. उत्तराखंड स्पेशल टास्क फोर्स ने 360 करोड़ के फ्रॉड का डिटेल की जानकारी कर ली है.

25 कंप्लेन सिर्फ उत्तराखंड से

ट्यूजडे को उत्तराखंड एसटीएफ की टीम ने पावर बैंक नाम के एप के जरिए लोगों को पैसे इन्वेस्ट करने का झांसा देकर ठगने वाले इंटरनेशनल गिरोह का पर्दाफाश किया था. पुलिस ने नोएडा यूपी से गिरोह के मेंबर पवन कुमार पांडेय को अरेस्ट किया. एसटीएफ की जांच पड़ताल में इंटरनेशनल गिरोह ने करीब 4 माह में ही मोबाइल एप के जरिए 250 करोड़ के फ्रॉड की डिटेल मिली थी. वेडनसडे को बेंगलुरु और दिल्ली पुलिस ने इंटरनेशनल फ्रॉड गिरोह के मामले में कुल 11 लोगों को अरेस्ट किया गया है. इनमें कंपनी के 6 डायरेक्टर्स भी शामिल हैं. एसटीएफ के एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि उत्तराखंड में अब तक 25 कंप्लेन प्राप्त हो चुकी है. जिनके साथ पावर बैंक एप से फ्रॉड होने की जानकारी मिली है. उन्होंने बताया कि मामला गंभीर होने के कारण विदेशी नागरिकों, कम्पनियो के जुड़े होने के एविडेंस मिले हैं. इस कारण नेशनल एजेंसियों सीबीआई, आईबी, ईडी को भी इस बारे में जानकारी शेयर की गई है.

25 मोबाइल एप की लिस्ट तैयार

मोबाइल एप के जरिए साइबर फ्रॉड का मामला सामने आने के बाद उत्तराखंड एसटीएफ ऐसे एप को लेकर भी एविडेंस जुटा रही हैं जो इस तरह लोगों को झांसे में ले रही हैं. इस तरह की देशभर में 25 मोबाइल एप को लिस्टेड किया गया है. इन सभी एप की डिटेल संबंधित कंपनियों, डिजिटल प्लेटफॉर्म और महत्वपूर्ण एजेंसियों को सौंपी गई है. जिससे जल्द ही इन एप को यूज करने वाले लोगों पर नजर रखी जा सकी. एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि जिन एप के बारे में एसटीएफ को पुख्ता जानकारी मिली है, उनकी डिटेल एजेंसियों से शेयर की गई है जिससे आने वाले समय में उनकी तकनीकी सिस्टम को समझकर उन पर कार्रवाई की जा सके.

इंटरनेशनल साइबर फ्रॉड गिरोह के कई अन्य मेंबर्स दूसरे स्टेट की पुलिस द्वारा अरेस्ट किए गए हैं. अब तक 360 करोड़ के फ्रॉड की जानकारी मिल चुकी है. हमारे पास लगातार उत्तराखंड से भी कंप्लेन आ रही है. मोबाइल एप के बारे में और जानकारी जुटाई जा रही है.

अजय सिंह, एसएसपी एसटीएफ, उत्तराखंड


error: Content is protected !!