बिहार के गया से एक दिल दहलाने वाली घटना निकल कर सामने आई है। गया के वजीरगंज थाना क्षेत्र के दोयुना गांव में पूर्व मुखिया अभय सिंह उर्फ अबलू ने एक महादलित युवक के साथ अमानवीय व्यवहार किया है। दरअसल, बिहार के गया दोयुना गांव में पूर्व मुखिया ने अपने ही गांव के निवासी मनोज कुमार नाम के महादलित युवक को पहले तो पीटा और फिर उससे थूक चटवाया।

दबंग पूर्व मुखिया ने मनोज से उठक-बैठक कराया और फिर उसके माता-पिता से भी मारपीट की और उन्हें गांव से भागने की चेतवनी दी। जानकारी के अनुसार मनोज कुमार पर आरोप बस इतना था कि उसने पूर्व मुखिया अभय सिंह उर्फ अबलू का आगामी पंचायत चुनाव में साथ देने से इनकार कर दिया था। जिसके बाद नाराज अभय सिंह उर्फ अबलू और उसके समर्थकों ने मनोज को एक कमरे में बंद कर दिया।अभय सिंह उर्फ अबलू ने मनोज को चेतावनी दी और कहा कि पंचायत चुनाव आने वाला है, तुम गांव में मेरा चुनाव प्रचार करो।

मनोज ने जब इनकार कर दिया तो पूर्व मुखिया ने पहले तो उसे पेशाब पिलवाया फिर जमीन पर दूसरे का थूक चटवाया। वहीं मुखिया के समर्थकों ने थूक चटवाने और उठक बैठक का वीडियो भी मोबाइल में बनाया और फिर वीडियो को सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। यह वायरल वीडियो 7 अप्रैल का बताया जा रहा है। इधर, पूर्व मुखिया की दबंगई से मनोज कुमार ने गांव खाली कर दिया है और अपने रिश्तेदार के घर चला गया है। हालांकि अब जब थूक चटवाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो पीड़ित मनोज कुमार सामने आया और बताया कि डर के कारण वह दूसरे स्थान पर है। मनोज अब प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है। उसने कहा है कि अगर उसे इंसाफ नहीं मिला तो वह आत्महत्या कर लेगा।

गया के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा दिए गए निर्देश के आलोक में जांच के बाद पाया गया कि उक्त वायरल वीडियो कढ़ौना गांव का है जिस पर त्वरित कार्रवाई करते हुए उक्त वायरल वीडियो में दिख रहे लोगों को चिन्हित कर गांव से छह व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया।

सभी गिरफ्तार व्यक्तियों ने इस घटना में संलिप्त होने की बात को स्वीकार किया। इस संबंध में वजीरगंज थाना में 12 अप्रैल को भादंसं, आईटी कानून और एससी-एसटी एक्ट कानून की संबंधित धाराओं के तहत 14 नामजद अभियुक्तों के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई थी। शेष अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए गठित एसआईटी की छापामारी जारी है। 

error: Content is protected !!