Right News

We Know, You Deserve the Truth…

शिवसेना ने मुंबई के सभी पैट्रोल पम्पों पर चिपकाए पोस्टर, कहा क्या यह सही है क्या यह अच्छे दिन है?

 पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर केंद्र सरकार विपक्ष के निशाने पर है। शिवसेना की युवा शाखा यानि युवा सेना ने सरकार को घेरते हुए मुंबई के पेट्रोल पंपों और सड़क के किनारे कई बैनर लगाए हैं, जिसमें लिखा है क्या यह सही है क्या यह अच्छे दिन हैं? इतना ही नहीं इन पोस्टर में साल 2015 और साल 2020 के गैस, पेट्रोल और डीजल की कीमतों की तुलना भी की।

मुंबई के बांद्रा इलाके में लगाए गए पोस्टरों में बताया गया है कि 2015 में पेट्रोल के दाम 64.60 रुपये थे जबकि 2021 में यह 96.62 रुपये प्रति लीटर हो गया है। (मुंबई डीजल के दामों के बदलाव को भी पोस्टर में देखा जा सकता है। दरअसल इन दिनों  मुंबई में पेट्रोल 97.00 रुपए प्रति लीटर जबकि डीजल 88.06 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है। 

बता दें कि देश में पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के बढ़ते दामों को देखते हुए विपक्षी पार्टियां लगातार  विरोध प्रदर्शन कर रही हैं। तेल और गैस की कीमतों में बढ़ोतरी ने आम जनता की परेशानी बढ़ा दी है। इस समय लगभग हर शहरों में दोनों ईधनों के दाम सर्वाधिक उच्च स्तर पर चल रहे हैं। कुछ शहरों में तो यह 100 रुपए के स्तर को भी पार कर चुका है।

नया साल पेट्रोलियम ईंधनों के लिए अच्छा नहीं रहा है। जनवरी और फरवरी में अब तक कुल मिलाकर 24 दिन में ही पेट्रोल महंगा हो गया, लेकिन इतने दिनों में ही यह 06.77 रुपये महंगा हो गया है। पेट्रोल के साथ ही डीजल की कीमत भी रिकाडर् बनाने की राह पर अग्रसर है। नए साल में 24 दिनों के दौरान ही डीजल 07.10 रुपये प्रति लीटर महंगा हो चुका है।

error: Content is protected !!