शिमला बना कोरोना हॉटस्पॉट, 10 दिन में आए 3986 केस और हर 22वां व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव

शिमला. हिमाचल प्रदेश का कोरोना की तीसरी लहर में शिमला जिला सबसे बड़ा कोरोना हॉटस्पॉट बन गया है. शिमला में बीते दस दिन में ही कोरोना के 3986 केस सामने आए हैं. संक्रमण दर में काफी ज्यादा इजाफा हुआ है.

16 जनवरी को संक्रमण दर 45.90 प्रतिशत छू गई थी. और 100 टेस्ट की जांच करने पर 45 व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाया गया है. हालांकि, अब कुछ गिरावट देखने को मिली है. सरकार ने चालकी दिखाते हुए सैंपलिंग में कमी भी की है, ताकि कोरोना के कम मामले सामने आए.

जानकारी के अनुसार, शिमला में 18 जनवरी को भी संक्रमण दर 38.24 प्रतिशत तथा 21 जनवरी को 35.90 प्रतिशत दर्ज की गई है. 24 जनवरी को पॉजिटिविटी रेट 22 फीसदी के करीब है. सरकारी दफ्तरों में 50 प्रतिशत कर्मचारी और सार्वजनिक परिवहन में आधी सवारियों की इजाजत के अलावा शिक्षण संस्थान भी दो सप्ताह से बंद हैं. जिले में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के मामले भी रिपोर्ट हो गए हैं, इसलिए माना जा रहा है कि ओमिक्रॉन का भी सामुदायिक प्रसार (कम्युनिटी स्प्रैड) हो रहा है. शिमला में अब तक कोरोना से 674 लोगों की मौत हो चुकी है. शिमला में 14 जनवरी को एक्टिव केस 1400 थे, जो 24 जनवरी को बढ़कर 2336 हो गए हैं. राहत की बात यह है कि अधिकतर लोग अपने घरों पर ही स्वास्थ्य लाभ लेकर स्वस्थ हो रहे हैं. शिमला में चौबीस घंटे 5 लोगों की मौत हुई है. इनमें दो साल की बच्ची और 22 साल का लड़का भी शामिल है.

हिमाचल में मौतों का आंकड़ा बढ़ा

सोमवार को प्रदेश में कोरोना से रिकार्ड 11 लोगों की मौत हुई. शिमला जिले में सबसे ज्यादा 5 लोगों की मौत हुई. इसके अलावा सोलन और मंडी में 2-2, हमीरपुर और कांगड़ा जिले में 1-1 कोरोना संक्रमित की मृत्यु हुई. बीते 24 घंटों के भीतर प्रदेश में कोरोना के 1766 नए मरीज सामने आए और 3035 मरीज ठीक हुए. सूबे में एक्टिव केसों की संख्या 15 हजार 541 पहुंच गई है. इस बीच राज्य सरकार ने कोरोना की बंदिशों को 31 जनवरी तक बढ़ा दिया है. कोरोना बंदिशों को लेकर 5,8,9,13 और 14 जनवरी को जो आदेश जारी किए गए थे वे 26 जनवरी तक ही लागू किए गए थे. सोमवार को जारी आदेशों के मुताबिक इन बंदिशों को 31 जनवरी तक बढ़ा दिया गया है.

SHARE THE NEWS:
error: Content is protected !!