Right News

We Know, You Deserve the Truth…

आत्मनिर्भर बनो, मात्र यह कह देना काफी है क्या -राजीव अम्बिया

आम आदमी पार्टी प्रवक्ता राजीव अम्बिया ने अपनी प्रेस विज्ञप्ति में सरकार से सीधे प्रश्न करके पूछा है कि क्या आत्मनिर्भर बनो कह देना क्या काफी है। आज सरकार ने आमजन से अपना पल्ला यह कह कर झाड़ लिया है कि भारत बनेगा आत्मनिर्भर? इस पर आम आदमी पार्टी हिमाचल प्रदेश ने सीधे प्रश्न में पूछा है आखिर कितना आत्मनिर्भर बनना है ? महंगाई ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं सरकार चुप है, बेरोजगारी इतनी है कि हर घर बेरोजगार हैं, निजी कार्य बंद पड़े हैं। रोजगार के संसाधन जुटाने में और रोजगार देने में पूरी तरह सरकार असमर्थ है।

बीते वर्ष से महामारी ने लोगों की जमापूंजी खत्म कर दी है यदि आने वाले समय मे हालात यही रहे तो वो दिन दूर नही जब भुखमरी सूबे में पैर पसार लेगी और सरकार सहित विपक्ष चुप्पी साधे बैठा है। आखिर सरकार कितना आत्मनिर्भर बनाना चाहती है। मंहगाई पर बात नही करना चाहती रोजगार पर कुछ बोलने नही चाहती आएदिन अपने ही निर्णय को बदल नए नए कानून लोगों पर थोपना बिना किसी आर्थिक सहायता या मदद के सरकार की कमजोरी है या कामचोरी? सूबे के मुख्यमंत्री बन्द कमरे में बैठ नये नए फरमान जारी किए जा रहे हैं पर बाहर निकल कर आमजन के हालात पर नजर नही डाल रहे। आज आमजन के मात्र नमक खरीद पाना भी मुश्किल हो रहा है। हाल ही हुई बेमौसम की वर्षा ने किसानों की गेहूं का अत्यधिक नुकसान किया पर सूबे के मुखिया को इस बारे कोई जानकारी नही। आवारा पशुओं के कहर से जब फल पक्की तो बेमौसम बारिश ने कहर किया पर सरकार की तरफ से किसी भी तरह से कोई राहत नही दी गई। हिमाचल प्रदेश सरकार आज आमजन की भावनाओं से खेल रही है आमजन को आज 60000 करोड़ के कर्जे में डुबो देने बाली सरकार और कितना आत्मनिर्भर बनाने चाहती है ?

error: Content is protected !!