दिल्ली सरकार के शिक्षा विभाग ने सभी स्कूलों को नई स्कूल बैग पॉलिसी लागू करने के निर्देश दिए हैं। दिल्ली सरकार ने एक सर्कुलर जारी कर दिल्ली सरकार के शिक्षा विभाग के अंतर्गत आने वाले सभी स्कूलों के प्रमुखों को, स्कूल बैग पॉलिसी 2020 के तहत प्राइमरी, सेकेंडरी और सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों के बस्ते का बोझ कम करने के लिये संशोधित गाइडलाइंस का पालन करने का आदेश दिया है।

सर्कुलर में कहा गया है कि भारी बैग बच्चों के स्वास्थ्य के लिए खतरा है। ज़्यादा वजन वाले स्कूली बैग से बच्चों के शारीरिक विकास पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इससे बच्चों के घुटने और रीढ़ की हड्डी को भी नुकसान पहुंचता है। यहां तक की जिन स्कूलों में दो या बहुमंजिला इमारतें हैं वहां बच्चों के लिए और ज़्यादा समस्या है। कक्षाओं तक पहुंचने के लिए बच्चों को भारी बैग के साथ काफी सीढ़ियां चढ़नी पड़ती है, जो समस्या को और बढ़ा देता है।

सर्कुलर में जारी निर्देश के मुताबिक-

  • सभी स्कूलों को सिर्फ SCERT, NCERT और CBSE द्वारा निर्धारित की गई टेस्टबुक को ही फॉलो करना होगा. किसी भी क्लास में टेस्टबुक की संख्या इन संस्थानों द्वारा निर्धारित की गई संख्या से अधिक नहीं हो सकती।
  • स्कूल के प्राध्यापकों और टीचर्स को हर क्लास एक टाइम टेबल तैयार करना होगा ताकि छात्रों को हर रोज़ बहुत सारी किताबें और नोटबुक न लानी पड़ें।
  • प्री-प्राइमरी कक्षाओं के लिये कोई भी नोटबुक नहीं होगी।
  • 1st और 2nd क्लास के लिये सिर्फ 1 नोटबुक के इस्तेमाल को कहा गया है। इन क्लासेज के लिये कोई भी होमवर्क नहीं होगा।

अन्य क्लासेज में 1 सब्जेक्ट के लिये अभ्यास, प्रोजेक्ट, यूनिट टेस्ट और एक्सपेरिमेंट्स की सिर्फ 1 नोटबुक होगी जिसे टाइम टेबल के हिसाब से छात्रों को लाना होगा। छात्रों को पढ़ाई के लिये अतिरिक्त किताबें या एक्स्ट्रा मटीरियल स्कूल में लाने के लिये नहीं कहा सकता।

स्कूल बैग का वजन इस प्रकार होगा-

  • प्री-प्राइमरी- कोई बैग नहीं
  • क्लास 1 और 2- 1.6 से 2.2 kg
  • क्लास 3, 4, 5- 1.7 से 2.5 kg
  • क्लास 6 और 7- 2 से 3 kg
  • क्लास 8- 2.5 से 4 kg
  • क्लास 9 और 10- 2.5 से 4.5 kg
  • क्लास 11 और 12- 3.5 से 5 kg

सभी स्कूलों को स्कूल बैग के वजन का चार्ट स्कूल के नोटिस बोर्ड पर और हर क्लासरूम में लगाना होगा। स्कूलों को चेक करना होगा कि कहीं छात्रों का बस्ता ज्यादा भारी न हो। साथ ही स्टूडेंट्स को बैग की दोनों बेल्ट को टांगने के लिए प्रोत्साहित करना होगा। स्कूल प्रशासन कम वजन वाले उपयुक्त प्रकार के स्कूल बैग के बारे में छात्रों और अभिभावकों को बताएं और छात्रों को सरकार द्वारा की गई सिफारिशों के अनुसार बैग उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करें। साथ ही स्कूल मैनेजमेंट की ज़िम्मेदारी है कि छात्रों को अच्छी गुणवत्ता का पीने का पानी स्कूल में पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराएं ताकि बच्चों को घर से पानी की बोतल लेकर आना पड़े।

error: Content is protected !!