घाटमपुर के सजेती में बेटी के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म से पीड़ित परिवार सदमे में था। इसके कुछ ही घंटे बाद पीड़िता के पिता की मौत हो गई। परिवार को दोहरा सदमा लगा। जब पुलिस प्रशासन के अफसर पहुंचे और मुआवजा देने की बात कही तो पीड़िता की मां गुस्से में बोली…पैसा नहीं चाहिए।

अगर वापस कर सकते तो मेरी बेटी की इज्जत और मेरा पति लौटा दो। ये सुनकर सब स्तब्ध रह गए। पीड़िता के दादा बेसुध हैं। बुजुर्ग दादा कहते हैं कि बुढ़ापे में ये दिन देखने को मिलेंगे कभी सोचा नहीं था। अब बस यही प्रार्थना है कि दोषियों को सख्त सजा मिले।

पिता की मौत का मंजर देख कांप उठी पीड़िता
पिता की मौत की खबर सुन दुष्कर्म पीड़िता कांप उठी। काफी देर तक महिला सिपाही उसे सांत्वना देने की कोशिश करती रही। बदहवास पीड़िता के कांपने पर अनहोनी की आशंका पर पुलिस के होश उड़ गए। पीड़िता के आंसू नहीं थम रहे थे। वो पिता के शव को छोड़कर मां के साथ मेडिकल कराने गई। उसको यकीन नहीं हो रहा था कि अब उसके पिता इस दुनिया में नहीं रहे।

वीआईपी ड्यूटी से नहीं लौटा आरोपी दरोगा, फरार 
हत्यारोपी दरोगा देवेंद्र सिंह यादव मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की वीआईपी ड्यूटी में जालौन गया था लेकिन लौटा नहीं। उसने जिले में बुधवार को भी आमद नहीं कराई। मोबाइल स्विच ऑफ बता रहा है। उसके फरार हो जाने की आशंका है। आठ मार्च को कोतवाली से उसने रवानगी ली थी। दरोगा देवेंद्र कन्नौज के छिबरामऊ तहसील में निगम मंडी चौकी इंचार्ज है। सीओ शिव प्रताप सिंह ने बताया कि दरोगा के आने पर पूछताछ होगी।

एक आरोपी गिरफ्तार 
सामूहिक दुष्कर्म के मामले में पुलिस ने आरोपी गोलू यादव को गिरफ्तार कर लिया है। मुख्य आरोपी दरोगा पुत्र दीपू यादव व एक अन्य अभी भी फरार है।

इन पर दर्ज हुई एफआईआर
मृतक के भाई ने दुष्कर्म आरोपी, उसके दरोगा पिता देवेंद्र यादव, चौकी इंचार्ज व एक अज्ञात पर हत्या व साजिश रचने की धारा में एफआईआर दर्ज कराई है। दरोगा व चौकी इंचार्ज पर मिलीभगत कर वारदात को अंजाम देने का आरोप लगाया गया है।

error: Content is protected !!