हाल में मंगल ग्रह की सतह पर उतरे नासा के रोवर ने इस सप्ताह लाल ग्रह पर अपने पहले प्रायोगिक मुहिम में 21 फीट की दूरी तय की। मंगल ग्रह पर जीवन की संभावना तलाशने की मुहिम के तहत पर्सेवियरेंस रोवर ग्रह की सतह पर उतरने के दो सप्ताह बाद अपने स्थान से कुछ दूर चला। रोवर शुक्रवार को आगे और पीछे चला। यह प्रक्रिया करीब 33 मिनट बेहद सुगमता से चली।

कैलिफोर्निया के पासाडेना में नासा के जेट प्रणोदक प्रयोगशाला ने एक संवाददाता सम्म्मेलन में इस घटना की तस्वीरें साझा कीं। इंजीनियर अनास जराफियान ने कहा, रोवर के चलने और उसके पहियों के निशान देखकर मैं बहुत खुश हूं। उन्होंने कहा, अभियान में यह बहुत बड़ी उपलब्धि है। जितनी जल्दी पर्सेवियरेंस पर सिस्टम का नियंत्रण पूरा होगा, रोवर एक प्राचीन नदी के डेल्टा के लिए आगे बढ़ेगा और धरती पर लौटने से पहले वहां से चट्टानें एकत्र करेगा।

बता दें कि हाल ही में मंगल की सतह पर उतरने के बाद नासा का रोवर अपना काम शुरू कर दिया है। अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा का रोवर मंगल ग्रह की सतह पर उतर चुका है और अब वह अपने काम पर लग गया है। मंगल पर उतरने के बाद की नासा ने रोवर की तस्वीरे भेजी हैं। जिन्हें नासा ने अपने ट्विटर हैंडल से पोस्ट किया है था। पहली बार ऐसा नजारा कैमरे में कैद हुआ है।

नासा को उम्मीद है कि आने वाले दिनों में और अधिक रिज़ॉल्यूशन की तस्वीरें और वीडियो आएंगे, लेकिन अभी तक यह नहीं पता है कि उसने पहली बार माइक्रोफोन का उपयोग करके मंगल पर ध्वनि रिकॉर्ड की है या नहीं।

error: Content is protected !!