बारिश ने खोली नगर निगम की तैयारियों की पोल; पंथाघाटी में घरों में घुसा पानी, हाई कोर्ट के समीप गिरा डंगा

Read Time:7 Minute, 19 Second

राजधानी शिमला में बरसात की पहली बारिश ने अपना कहर भरपाया है। मंगलवार शाम को हुई बारिश से सड़कों पर किया जा कार्य भी प्रभावित हुआ। वहीं तेज बारिश के चलते सड़कों पर भी पानी भर गया। यहीं नहीं कई जगहों पर स्मार्ट सिटी के तहत सड़कों को चौड़ा करने का कार्य किया जा रहा था। वहां से मलबा पानी के साथ बह कर सड़कों पर आ गया। तो कहीं पानी के साथ मलवा बह कर सड़कों के किनारे खड़ी गाडिय़ों को भी नुकसान हुआ है।

कोरोना के कारण नगर निगम प्रशासन शहर में सफाई व्यवस्था बनाने में लगा रहा। लेकिन ज्यादा बारिश होने से नालियों में बारिश का पानी ओवरफ्लो हो गया। ऐसे में शिमला में पिछले दो दिन से हो रही भारी बारिश ने नगर निगम की तैयारियों की पोल खोल कर रख दी है। मंगलवार देर शाम हुई तेज बारिश से जहां शहर भर में नालियों से बाहर सड़को और रास्तों पर पानी बहता नजर आया। वहीं देव नगर में लोगो के घरों में पानी और मलबा घुस गया।

ड्रेनेज न होने के चलते पहाड़ी का सारा पानी बहुमंजिला मकान में जा घुसा। देर रात तक लोग घरों से पानी निकालने में लगे रहे। इसके अलावा मकान के साथ लगता डंगा गिरने की कगार पर है, जिससे भवन को भी खतरा हो गया है। हालांकि भवन मालिकों का कहना है कि वह कई बार ड्रेनेज सिस्टम ठीक को करने की मांग स्थानीय पार्षद से कर चुके हैं, लेकिन नगर निगम की ओर से अभी तक कोई भी कदम नहीं उठाया गया है और इसका नतीजा यह हुआ है कि मंगलवार रात को कोई बारिश से ऊपर का सारा पानी नीचे भवन में आ गया और इससे लोगों का काफी नुकसान हुआ है। इसके अलावा ड्रेनेज पाइप भी पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई है। भवन मालिकों ने प्रशासन से नुकसान का जायजा लेकर राहत देने की गुहार भी लगाई है और निगम से इस क्षेत्र में नालियों को दुरुस्त करने कि मांग भी की है। इसके अलावा भी शहर भर में नालियां ब्लॉक होने से पानी रास्तों पर बहता रहा।

उपनगर संजौली, बेमलोई सहित कई क्षेत्रों में सड़के और रास्तों पर पानी बहने लगा, जिससे लोगों को काफी दिक्कतें पेश आई। इसके अलावा विकासनगर में एक भवन में ऊपर के रास्ते से पूरा मलबा घरों में भर गया। भवन मालिक से लेकर किरायेदारों के घरों में पानी व मलबा आ गया। भवन मालिक लीला ठाकुर, गिरी राज ठाकुर सहित स्थानीय निवासी श्वेता ने आरोप लगाया कि इस मामले में प्रशासन को पहले ही बता दिया गया था लेकिन पानी की निकासी की सही व्यवस्था नहीं की गई है। इसका खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ रहा है। नाले पूरी तरह साफ न होने से रास्तों में पानी बहने के अलावा नालियां भी ब्लाक हो रही हैं। उन्होंने मांग की है कि स्थानीय पार्षद व निगम के अधिकारी मौके का निरीक्षण करें। पानी की निकासी की व्यवस्था सही तरीके से की जाए। निकासी की व्यवस्था में सुधार से पूरी बरसात काटी जा सकेगी, दूसरी स्थिति में तो पूरे घरों को भी खतरा है। वहीं यहां पर सड़कों के किनारें खड़े वाहनों में मलबा घुस गया जिससे वाहनों को भी नुकसान हुआ है। तो वहीं दूसरी तरफ हाई कोर्ट के समीप डंगे से पत्थर गिरना शुरू हो गए हैं। इससे किसी भी समय नुकसान की आशंका बनी है। विधानसभा के नजदीक ही पेड़ गिर गया है। शहर के बाजारों से लेकर रिहायशी इलाकों में गलियों में नालियां ब्लाक होने के कारण पानी सड़कों व रास्तों से बह रहा है। इससे आम लोगों को चलना मुश्किल हो रहा है। वहीं, घरों तक में पानी भरने की आशंका सता रही है। नगर निगम महापौर सत्या कौंडल ने बताया है कि निगम ने समय से पहले ही बरसात से निपटने की तैयारियां शुरू कर दी थी। ऐसे में बारिश होने पर शहर में लोगों नालियों के जाम होने जैसी परेशानियां नहीं झेलनी पड़ रही है।

तेज बारिश से टाउन हाल में भी घुसा पानी
शिमला के रिज मैदान पर स्थित टाउन हाल में पर करोड़ों रुपए खर्च किए गए है। लेकिन बारिश होने पर टाउन हाल में पानी भर जाता है। जिससे इस इमारत के मरम्मत कार्य पर करोड़ों रुपए खर्च कि ए गए है उस पर सवाल उठता है। बुधवार को भी टाउन हाल में कोविड टीकारण लगाने पहुंचे लोगों को पानी के बिच खड़े होकर अपनी बारी का इतंजार करना पड़ा। लोगों को पानी के बीच खड़े होने में दिक्कतें पेश आ रही थी। बारिश में आम तौर पर टाउन हाल में पानी आने की परेशानी रहती है। लेकिन प्रशासन द्वारा इस समया के सामाधान के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है।

नुकसान का जायजा लेने के निर्देश
वहीं नगर निगम की महापौर सत्या कौंडल ने कहा कि मंगलवार देर रात काफी तेज बारिश हुई है और शहर में कहां-कहां कितना नुकसान हुआ है इसका जायजा लेने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं । उन्होंने कहा कि शहर में नगर निगम द्वारा सभी नालियों को दुरुस्त कर दिया गया था, लेकिन नालियों में कूड़ा फेंकने के चलते यह नाले ब्लॉक हो जाते हैं, जिससे पानी बाहर बह जाता है । उन्होंने कहा कि नगर निगम इन नालों को भी जल्द दुरुस्त कर देगा।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!