बांग्लादेश में पिछले कुछ दिनों से जारी हिंसा रविवार को अचानक भड़क उठी। कई हिंदू मंदिरों पर हमले किये गए। हिंसक प्रदर्शनों के दौरान पुलिस के साथ झड़पों में करीब 10 प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, पीएम नरेंद्र मोदी की बांग्लादेश यात्रा के विरोध में हिंसक प्रदर्शनों का दौर जारी है।

बांग्लादेश में एक कट्टरपंथी इस्लामिक ग्रुप के सैकड़ों लोगों ने रविवार को पूर्वी बांग्लादेश में हिंदू मंदिरों और एक ट्रेन पर हमला कर दिया। पीएम मोदी की यात्रा के खिलाफ इस्लामी समूहों द्वारा किए गए प्रदर्शनों के दौरान पुलिस से प्रदर्शनकारियों की झड़प हो गई। अलग-अलग झड़पों में कम से कम 10 प्रदर्शनकारियों के मारे जाने की खबर है।

बता दें कि पीएम मोदी शुक्रवार को ढाका पहुंचे थे, जहां उन्होंने बांग्लादेशी प्रधानमंत्री शेख हसीना को 1.2 मिलियन कोरोना वैक्सीन की डोज सौंपी। साथ ही उन्होंने कई कार्यक्रमों में शिरकत की। पीएम मोदी अपनी दो दिवसीय बांग्लादेश यात्रा पूरी करके शनिवार रात को दिल्ली लौटे। हालांकि, पीएम मोदी के बांग्लादेश दौरे के दौरान ही कई जगहों पर हिंसक प्रदर्शन शुरू हो गए थे।

शुक्रवार को बांग्लादेश की राजधानी ढाका में हिंसक प्रदर्शन में दर्जनों लोग घायल हो गए थे। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस और रबर की गोलियां चलाईं। हजारों प्रदर्शनकारियों ने विरोध में शनिवार को चटगांव और ढाका की सड़कों पर मार्च किया।

लेकिन रविवार को रविवार को ब्रह्मनबरिया में एक ट्रेन पर हमला किया, जिससे दस लोग घायल हो गए। इंजन रूम और लगभग हर कोच को बर्बाद कर दिया। रॉयटर्स ने एक स्थानीय पत्रकार के हवाले से बताया कि ब्रह्मनबरिया जल रहा है। कई सरकारी दफ्तरों में आग लगा दी गई है। प्रेस क्लब पर भी हमला हुआ है और कई लोग घायल हुए हैं। उन्होंने कहा कि इलाके में कई हिंदू मंदिरों पर भी प्रदर्शनकारियों ने हमला किया है।

error: Content is protected !!