हिमाचल में कल होगी कैबिनेट मीटिंग, 12वी के छात्र किए जा सकते है प्रमोट और बसें चलाई जाने की संभावना

हिमाचल प्रदेश कैबिनेट की बैठक शनिवार पांच जून को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में पीटरहॉफ शिमला में होगी। इसमें अब और रियायतें बढ़ाने के साथ ही कोरोना कर्फ्यू एक सप्ताह और बढ़ाने पर फैसला लिया जा सकता है। 12वीं की परीक्षा रद्द करने, विद्यार्थियों को बिना परीक्षा प्रमोट करने, बसें चलाने, व्यापारियों को दुकानें खोलने में और ढील देने, स्कूलों में शिक्षकों को बुलाने जैसे कई मसलों पर निर्णय होंगे। अंतरराज्यीय बसें चलानी हैं कि नहीं, इस बारे में भी मंत्रणा होगी। 

कैबिनेट बैठक  में कोरोना कर्फ्यू जहां एक सप्ताह और बढ़ाया जा सकता है, वहीं इससे संबंधित कुछ और रियायतें भी दी जा सकती हैं। वर्तमान में 7 जून सुबह 6 बजे तक कोरोना कर्फ्यू है। इसे 14 या 15 जून तक बढ़ाया जा सकता है। बाजार में बढ़ती भीड़ के मद्देनजर दुकानें खोलने की अवधि सुबह 9 से शाम 5 बजे तक की जा सकती है। प्रदेश में होटल उद्योगों को भी राहत दी जा सकती है। लंबे अरसे से निजी बस, टैक्सी ऑपरेटर, होटलियर और उद्यमी सरकार से राहत की मांग कर रहे हैं। मुख्यमंत्री अपने मंत्रियों से मंत्रणा करेंगे कि अंतरराज्यीय परिवहन व्यवस्था अभी शुरू की जाए या नहीं। 

15 जून तक बंदिशें बढ़ाने की सिफारिश करेगा स्वास्थ्य विभाग 

-इस बैठक में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी अपनी प्रस्तुति देंगे। स्वास्थ्य विभाग सरकार से सिफारिश करेगा कि कोरोना कर्फ्यू की बंदिशों को 15 जून तक बढ़ाया जाए, जिससे संक्रमण को पूरी तरह से पनपने से रोका जा सके। 

चुनिंदा क्षेत्रों के लिए चल सकती हैं बसें

मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को शिमला में एचआरटीसी और परिवहन विभाग के अधिकारियों की बैठक बुलाई है। दरअसल सरकार लगातार दबाव के बीच राज्य के भीतर बसें चलाने के पक्ष में है। हालांकि, विभाग बाहरी राज्यों के लिए बसें चलाने के पक्ष में नहीं है। 50 फीसदी सवारियों के साथ अगर बसें चलती हैं, तो ऐसा भी हो सकता है कि ये सभी रूटों में नहीं, बल्कि चुनिंदा क्षेत्रों के लिए ही चलाई जाएं। परिवहन मंत्री बिक्रम सिंह ने कहा कि यह स्वास्थ्य विभाग की प्रस्तुति पर निर्भर रहेगा।


error: Content is protected !!