योल की नर्सिंग छात्राओं समृति, शीना और नेहा ने चमकाया प्रदेश का नाम

हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय की ओर से घोषित एमएससी प्रथम वर्ष के परीक्षा परिणाम में गुरु द्रोणाचार्य कॉलेज ऑफ नर्सिंग योल की प्रशिक्षु नर्सों ने समूचे प्रदेश में नाम रोशन किया है। कॉलेज की प्रशिक्षु नर्सों ने प्रथम और द्वितीय स्थान‌ हासिल कर कॉलेज का ही नहीं प्रदेश का भी गौरव बढ़ाया है। कॉलेज के प्राचार्य राम कुमार गर्ग ने बताया कि बीएससी नर्सिंग प्रथम वर्ष का परिणाम कालेज स्तर भी शत प्रतिशत रहा है। उन्होंने बताया कॉलेज की होनहार प्रशिक्षु नर्सों में धर्मशाला की स्मृति शर्मा तथा जवाली की शीना गुलेरी ने पूरे प्रदेश में प्रथम स्थान हासिल किया है।

इसी तरह शाहपुर की नेहा भट्ट ने समूचे प्रदेश में बीएससी नर्सिंग प्रथम वर्ष के परीक्षा परिणाम में द्वितीय स्थान‌ हासिल कर कालेज‌ तथा अभिभावकों का नाम रोशन किया। इनकी इस उपलब्धि पर कॉलेज प्रबंधन ने हालात सामान्य होने पर सम्मानित करने का निर्णय लिया है।

इस मौके पर काॅलेज प्रबंधन के डॉ. राजीव शर्मा ललित शर्मा, वीएन रैणा ने प्रशिक्षु नर्सों की इस उपलब्धि पर बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्‍य की कामना की। उन्होंने कोरोना काल जैसी विरीत परिस्थितियों में छात्राओं द्वारा की गई कड़ी मेहनत की सराहना कर इसका श्रेय कॉलेज के प्रशिक्षक स्टाफ तथा अभिभावकों को दिया।

कोरोना काल में प्रशिक्षु नर्सों ने निभाई है अहम भूमिका

गुरु द्रोणाचार्य कॉलेज ऑफ नर्सिंग योल की प्रशिक्षु नर्सों ने कोरोना काल में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। मरीजों की देखरेख से लेकर मरीजों व तीमारदारों तक भोजन व अन्य सुविधाएं पहुंचाने में अपना योगदान दिया है। परौर कोवि़-19 अस्पताल व टांडा अस्पताल में भी प्रशिक्षु नर्सों ने अपनी सेवाएं दी हैं। कॉलेज प्रबंधक के डॉ. राजीव शर्मा ने कहा कि कोविड-19 को लेकर सतर्क व जागरूक रहें। सतर्कता जारी रखें और कोविड-19 नियमों की अवहेलना न करें। लगातार कोविड-19 नियमों की पालना सुरक्षा के लिए जरूरी है। दो गज दूरी रखें, बार बार हाथों को साबुन से धोते रहे और सैनिटाइज करते रहें। सबसे जरूरी मास्क जरूर पहनें, बिना मास्क के न रहें यह खतरनाक हो सकता है। भीड़ भाड़

error: Content is protected !!