हारेगा कोरोना…जीतेंगे हम, आरएसएस के स्वयंसेवक कैप्टेन संजय पराशर का संदेश

कांगड़ा जिला के देहरा उपमंडल के स्वाणा निवासी समाजसेवी एवं राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ आरएसएस के स्वयंसेवक कैप्टन संजय पराशर और उनकी धर्मपत्नी सोनिका पराशर ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक के आग्रह पर जिला प्रशासन को एडीएम रोहित ठाकुर के माध्यम से कोविड-19 से निपटने के लिए 83 लाख रूपए से अधिक की दवाइयां, पीपीई किट्स, आक्सीमीटर सहित मौजूदा दौर में अन्य आवश्यक समग्री भेंट की। उन्होंने कहा कि प्रशासन को जरूरत होगी तो वह फिर से मदद के लिए जरूर आगे आएंगे। इस अवसर पर उनके साथ राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के यह विभाग संघ चालक भूषण रैणा तथा जिला कार्यवाह अभिषेक शर्मा भी उपस्थित थे। इस अवसर पर एडीएम रोहित ठाकुर ने कैप्टन संजय पराशर का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि कोविड-19 से निपटने के लिए स्वयंसेवी संस्थाएं भी अपना भरपूर सहयोग जिला प्रशासन को दे रही हैं।

इस अवसर पर स्वयंसेवक संघ के सह विभाग संघचालक भूषण रैणा ने कहा कि कोविड-19 की इस महामारी से निपटने के लिए स्वयं सेवक अलग अलग प्रकल्पों के तहत अपना रचनात्मक सहयोग सुनिश्चित कर रहे हैं तथा स्वयं सेवकों को अपने सामथ्र्य अनुसार मदद का हमेशा आग्रह रहता है। इस अवसर पर समाजसेवी एवं स्वयंसेवक कैप्टन संजय पराशर ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के आग्रह पर जिला प्रशासन को पहले चरण में 2925 पीपीई किट्स, 800 पल्स आक्सीमीटर, 50 हजार विटामिन सी की गोलियां, 25000 जिंक, 25 हजार इवरमेक्टाइन की गोलियां, 2500 हजार डोक्सी साइकलिन के कैप्सूल भेंट किए गए हैं। उन्होंने बताया कि उना के पालकवाह कोविड केयर सेंटर के लिए आक्सीजन रेगुलेटर तथा नेव्यूलाइजर भी भेंट किए जाएंगे और जरूरत पडऩे पर हर संभव मदद की जाएगी।

पराशर दंपति खुद हुआ था कोरोना पॉजिटिव

कैप्टन संजय पराशर बीबीएन शिप कंपनी के मालिक भी हैं और नेशनल शिपिंग बोर्ड के सदस्य भी हैं जबकि उनकी धर्मपत्नी बीआरएम शिप कंपनी की मालिक हैं। परासर दंपति का कहा है कि वह पिछली वार स्वयं कोरोना संक्रमित हुए थे और इस महामारी का दंश जानते हैं। ऐसे में वह सेवा का कोई अवसर छोडऩा नहीं चाहते, जिससे कठिन दौर से गुजर रहे लोगों को राहत मिल सके।

error: Content is protected !!