पालमपुर के अ अवधेश और लंबागांव के रोहित बने सेना में लेफ्टिनेंट


RIGHT NEWS INDIA


पालमपुर उपमंडल के गांव गढ़जमुला मलकेहड़ के अवधेश कटोच व अप्पर लम्बागांव के रोहित ने चेन्नई में सेना अकादमी की पासिंग आऊट परेड के दौरान लैफ्टिनैंट पद हासिल किया है। अवधेश कटोच ने पासिंग आऊट परेड के दौरान मिलने वाले दो मुख्य अवार्ड हासिल कर प्रदेश को गौरवान्वित किया है। शनिवार को चेन्नई में इस ट्रेनिंग के समापन पर आयोजित समारोह में अवधेश कटोच के उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए लैफ्टिनैंट जनरल योगेश कुमार जोशी द्वारा उन्हें स्वॉर्ड ऑफ ऑनर और गोल्ड मैडल से नवाजा गया। स्वॉर्ड ऑफ ऑनर उन्हें बैस्ट कैडिट के लिए जबकि गोल्ड मैडल ओवरआल मैरिट में प्रथम रहने के लिए दिया गया जो एक नया कीर्तिमान है।

कोविड महामारी के चलते इस समारोह में उपस्थित नहीं हो सके अवधेश कटोच के पिता डा. कैलाश कटोच व माता कांता कटोच ने बेटे की इस बड़ी उपलब्धि पर खुशी व्यक्त की है। अवधेश की बहन मनीषा कटोच ने भी अपने भाई को मिले सम्मान पर खुशी जाहिर की है। अवधेश कटोच ने जमा दो की परीक्षा माऊंट कार्मल स्कूल से पास कर शिमला से बीटैक की डिग्री हासिल की है। अवधेश के परदादा सूबेदार पुरुषोत्तम चंद कटोच 1945 में दूसरे विश्व युद्ध में अपनी बहादुर के बलबूते मिलिटरी क्रॉस का भगवान तगमा हासिल कर चुके हैं, जबकि उनके दादा के भाई कर्नल आरसी कटोच भी सेना में अपनी सेवाएं दे चुके हैं।

उधर, अप्पर लम्बागांव के लैफ्टिनैंट बने रोहित के पिता राम राज भी भारतीय नौसेना में आफिसर रैंक में अपनी सेवाएं देने के बाद पिछले वर्ष सेवानिवृत्त हुए हैं। रोहित की माता शशि बाला गृहिणी है जबकि बहन स्वेता की शादी हो चुकी है। रोहित के माता-पिता ने बताया कि कोविड महामारी के चलते इस समारोह में उपस्थित नहीं हो सके जिसका उन्हें मलाल है परंतु इस बात की खुशी है कि उनका बेटा आज लैफ्टिनैंट बन गया। रोहित ने जय ङ्क्षहद कालेज मुम्बई से बीएससी की डिग्री हासिल की है जिसमें उन्हें फिजिक्स विषय में गोल्ड मैडल से सम्मानित किया गया है। रोहित एक अच्छे तैराक भी हैं 6 किलोमीटर तैराकी स्पर्धा में 4 बार भाग ले चुके हैं, जिसमें उन्होंने श्रेष्ठ प्रदर्शन किया है। रोहित ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता को दिया।


Advertise with US: +1 (470) 977-6808 (WhatsApp Only)


Please Share this news:
error: Content is protected !!