भीम आर्मी के प्रदेशाध्यक्ष रवि कुमार दलित कर रहे बेसहाराओं की मदद, आज भी एक बेसहारा को उसके घर पहुचाने के लिए आए आगे


RIGHT NEWS DESK


आजकल पूरे हिमाचल में लॉक डाउन की स्थिति है। लोग घरों में बैठे है, लेकिन एक शख्सियत बेसहारा आदमियों की मदद के लिए सड़कों पर है। रवि कुमार दलित शिमला के लिए नया नाम नही है। उनके जानने वाले जानते है कि समय आने पर यह व्यक्ति किसी की भी मदद करने को हमेशा तैयार रहता है। ऐसा ही एक वाक्या आज शिमला में देखने को मिला। रवि कुमार दलित ने सड़क के किनारे एक बेसहारा व्यक्ति बैठा हुआ था। रवि कुमार दलित ने उस आदमी से बात की और पुलिस के हवाले कर उसके घर तक पहुंचने का मार्ग प्रशस्त किया।

रवि कुमार दलित कहते है कि कहते हैं नेकी कर कुएं में डाल लेकिन मैं फेसबुक में डाल रहा हूं फेसबुक में डालने का मुख्य कारण यह है कि जो भी इस के परिजन हो परिचित हो, इसे पहचान सके। दूसरी बात क्योंकि मैं चाहता हूं प्रदेश में जहां-जहां भी ऐसे लोग जो दिमागी तौर से बीमार है। मानसिक संतुलन ठीक नहीं कई जगह सड़कों में वर्षाशाला में पड़े मिल जाएंगे। आजकल हमने विशेष अभियान चलाया हुआ है। शिमला की सड़कों में जहां भी हमें कोरोना महामारी के बीच कोई भी ऐसा शख्स मिलता है। हम उसे उसके मुकाम तक पहुंचाने की कोशिश करते हैं।

उन्होंने आगे बताया कि आज की बात है, सुबह का समय कड़ी धूप के बीच यह व्यक्ति ढली में मिला रोजमर्रा की तरह घर से दुकान की ओर जा रहा था। पेड़ के नीचे बैठा, यह व्यक्ति परेशानी में था, आसपास के लोगों से बात की। उस व्यक्ति ने बताया कि यह वर्षा शालिका में रहता है और कोई इसे कंबल कोई इसे रोटी दे देता है, लेकिन बोलता नहीं है। जब हमने इसे बात की तो यह हल्का बोलता था, समस्या वही भाषा समझ नहीं आती। हमने तुरंत पुलिस अधीक्षक मोहित चावला को फोन लगाया। 5 मिनट के अंदर खुद ढली के एसएचओ गुलेरिया अपनी टीम के साथ पहुंच गए और वहां से तुरंत इसका रेस्क्यू किया गया।

उन्होंने आगे बताया कि उसके बाद जैसा कि होता है कोरोनावायरस टेस्ट करवाया गया, रिपोर्ट नेगेटिव आई। फिर क्या था पुलिस के दिल में हमेशा इंसानियत जिंदा रहती है। उन्होंने इस व्यक्ति को स्नान कराया, उसके बाद इसे कोर्ट में पेश किया जाना है। फिर इसे जहां उचित समझा जाएगा; अगर यह दिमागी बीमारी से परेशान है तो इसे बालूगंज भेजा जाएगा। अगर यह ठीक है तो इसके परिवार कहां है, क्या है, उसके बारे में बातचीत होगी। अगर इसके परिवार वाले है तो मैं चाहता हूं कि इसे अपने घर ले जाएं।


Advertise with US: +1 (470) 977-6808 (WhatsApp Only)


Please Share this news:
error: Content is protected !!