क्या हिमाचलियों को कोरोना का इलाज करवाने हॉस्पिटल जाना चाहिए?

क्या हिमाचलियों को कोरोना का इलाज करवाने हॉस्पिटल जाना चाहिए?

हिमाचल प्रदेश सरकार कोरोना महामारी के दौरान बेहद उम्दा काम कर रही है। एक बार फिर कोरोना के मामले प्रदेश में कम होने शुरू हो गए है। लेकिन अभी भी एक सवाल बाकी है। जोकि पिछले दिनों हॉस्पिटल में हुई मौतों को देखते हुए सामने आए है। मरीजों के परिजनों ने सरकार, प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग पर बेहद गंभीर आरोप लगाए है। कई मरीजों की मौत के लिए परिजनों ने अव्यवस्था और लापरवाही को जिमेवार ठहराया है।

कृपया अपनी राय जरूर रखे। ताकि हम आम जनता की राय जान सके। अगर आप हां, नही, या पता नही से संतुष्ट नही है तो आप नीचे कमेंट में अपनी बात रख सकते है।


क्या कोरोना के इलाज का इलाज करवाने हॉस्पिटल जाना चाहिए?

क्या हिमाचलियों को कोरोना का इलाज कराने हॉस्पिटल जाना चाहिए?

Yes
No
Don’t Know

Created by Right News India

Disclaimer: RIGHT NEWS INDIA का मानना है कि आपको कोई भी कोरोना के सिम्टम्स आने पर खुद को तत्काल आइसोलेट कर लेना चाहिए और डॉक्टर को संपर्क करना चाहिए। अपना टेस्ट करवा कर डॉक्टर से सलाह के मुताबिक हॉस्पिटल जाना चाहिए। ताकि आपकी जिंदगी बचाई जा सके।

3 thoughts on “क्या हिमाचलियों को कोरोना का इलाज करवाने हॉस्पिटल जाना चाहिए?

  1. Nahi jana chahiye kyuki hospital valo ne trnd hi bana liya h jo b aaye usko positive bata do

  2. Problem Ilaz ki nhi hai agr koii vykti phle sai hi kisi or bimari sai ld rha hai or usse corona ho jata hai to uska corona kai treatment kai sath sath us bimari ka bhi treatment hona chahiye qki patients agr corona kai sath sath kisi or bimari sai ld rha hai to wo treatment na hone kai chlte dusri bimari sai bhi Mr skta hai or nam corona ka aata hai

Comments are closed.

error: Content is protected !!