सुप्रीम कोर्ट पहुंचा टूलकिट विवाद, साजिश का पता लगाने के लिए एनआईए जांच की मांग

मामले में अंतरराष्ट्रीय साजिश का पता लगाने के लिए एनआईए जांच की मांग ।

कांग्रेस की कथित टूलकिट का मामला सुप्रीम कोर्ट तक जा पहुंचा है। वकील शशांक शेखर झा ने याचिका लगाकर पूरे मामले की एनआईए से जांच कराने की मांग रखी है।

याचिका में कहा गया कि टूलकिट के जरिए सरकार के खिलाफ लोगों को भड़काने और दुनिया में भारत की छवि बिगाड़ने का प्लान था।

याचिका में कहा गया है कि अगर जांच में आरोप सही पाया जाता है और जांच में पाया जाता है कि कांग्रेस एंटी नेशनल गतिविधियों में लिप्त है और लोगों के जीवन से खेल रही है, तो कांग्रेस पार्टी का रजिस्ट्रेशन सस्पेंड किया जाना चाहिए।

साथ ही निर्देश जारी किया जाए कि एंटी नेशनल कोई भी पोस्टर और बैनर न लगाया जाए। उधर, बुधवार को भाजपा ने प्रेस कान्फ्रेंस कर टूलकिट से जुड़े कथित सबूत पेश करते हुए दावा किया कि यह टूलकिट कांग्रेस ने तैयार की है, जिसके जरिए कोरोना काल में राजनीतिक लाभ लेने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि खराब करने की तैयारी थी। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि यह टूलकिट सौम्या वर्मा ने तैयार की है।

सौम्या कांग्रेस सांसद एमवी राजीव गौड़ा के ऑफिस में काम करती हैं। पात्रा ने प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान सौम्या वर्मा के सोशल मीडिया अकाउंट्स का ब्योरा और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी तथा गौड़ा के साथ उनकी कुछ तस्वीरें साझा कीं।

उधर, कांग्रेस सांसद राजीव गौड़ा ने एक ट्वीट में कहा कि हमने पार्टी के लिए सेंट्रल विस्टा पर एक रिसर्च नोट तैयार किया था, जो कि सही और तथ्य आधारित है।

इस बारे में मैंने पहले ही ट्वीट किया था कि कोविड-19 टूलकिट फर्जी है और भाजपा की बनाई हुई है। पात्रा एक असली डॉक्युमेंट का मेटाडेटा दिखा रहा है और उसे एक फेक दस्तावेज से जोड़ रहा है।

गौरतलब है कि भाजपा ने मंगलवार को एक टूलकिट का हवाला देते हुए पात्रा ने आरोप लगाया था कि कांग्रेस ने अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए भारत को पूरे विश्व में अपमानित और बदनाम करने की कोशिश की है।

कांग्रेस ने पलटवार करते हुए भाजपा पर फर्जी टूलकिट तैयार करने का आरोप लगाया था और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित उसके वरिष्ठ नेताओं बीएल संतोष, स्मृति ईरानी, संबित पात्रा तथा कई अन्य के खिलाफ दिल्ली पुलिस में जालसाजी की शिकायत दर्ज कराई।

नहीं चलेगी जालसाजी

नई दिल्ली- कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कथित टूलकिट मामले को लेकर बुधवार को भाजपा पर पलटवार करते हुए कहा कि भाजपा के फर्जी प्रबंधकों की यह जालसाजी सफल नहीं होगी तथा यह कोरोना महामारी के समय सरकार की विफलता से ध्यान भटकाने की कोशिश भर है। इसके लिए भाजपा के नेताओं को जेल जाना पड़ सकता है।

error: Content is protected !!