नवजोत सिंह सिद्धू ने घर की छत पर लगाया काला झंडा, दूसरे घर की छत पर राबिया ने भी फहराया


कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में कांग्रेस नेता एवं पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू व उनकी पत्नी नवजोत कौर सिद्धू ने मंगलवार को अपने पटियाला स्थित आवास की छत पर काला झंडा लगाया तो वहीं, सिद्धू के अमृतसर स्थित आवास पर उनकी बेटी राबिया ने भी काला झंडा लगाया। बता दें कि किसान संगठनों ने अपील की थी-उनके समर्थन में लोग घरों पर काले झंडे लगाएं और लोग कृषि बिल का पुरजोर विरोध करें।

कांग्रेस नेता सिद्धू ने परिवार सहित दिया किसानों का साथ

अपने पटियाला आवास पर काला झंडा लगाने के दौरान नवजोत सिंह सिद्धू ने पत्नी सहित जो बोले सो निहाल सत श्री अकाल का जयकारा भी लगाया और किसानों के आंदोलन को अपना समर्थन देने की बात दोहराई। सिद्धू ने मीडिया से किसी प्रकार की बात करने से इन्कार कर दिया। बता दें कि नवजोत सिद्धू ने कल ही घोषणा की थी वह अपने आवास पर किसानों के समर्थन में काले झंडे लगाएंगे। बता दें, दिल्ली बार्डर पर किसानों के आंदोलन को छह माह पूरे हो गए हैं।

किसान संगठनों ने लोगों से की थी ये अपील

किसान संगठनों ने किसानों, मजदूरों, युवाओं, विद्यार्थियों, सरकारी कर्मचारियों, साहित्यकारों, रंगकर्मियों, ट्रांसपोर्टरों, व्यापारियों और दुकानदारों से अपना रोष व्यक्त करने की अपील की थी। संयुक्त मोर्चा के नेता प्रो. जगमोहन सिंह ने अपील की थी कि किसान स्थायी धरनों में काली पगड़ियां पहन कर और काली चुनरियां ओढ़कर शामिल हों। इसके अलावा घरों, दुकानों, दफ्तरों, ट्रैक्टरों, कारों, जीपों, स्कूटर, मोटर साइकिल,बसों, ट्रकों पर काले झंडे लाकर तीनों कृषि कानूनों, बिजली संशोधन बिल और पराली आर्डिनेंस का विरोध जोरदार ढंग से किया जाए।

इससे पहले कांग्रेस नेता सिद्धू  ने कहा था कि जब तक केंद्र सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस नहीं लेती, वह किसान आंदोलन का समर्थन करेंगे। अमृतसर होली सिटी स्थित उनकी कोठी पर काला झंडा लगाने सिद्धू खुद तो नहीं पहुंचे, हां उनकी गैरहाजिरी में उनकी बेटी राबिया सिद्धू ने कोठी की छत पर काला झंडा लगाया और वहीं राबिया ने भी पिता की तरह मीडिया से दूरी बनाए रखी और इस बाबत किसी से बात नहीं की।

error: Content is protected !!