एक मां ऐसी भी; मां ने बेटी और दामाद के साथ मिलकर बेच डाले बेटे की ढाई करोड़ की जमीन और घर

अमेरिका में रह रही एक एनआरआइ महिला ने बेटी व दामाद के साथ मिलकर अपने ही सगे बेटे की जमीन व कोठी फर्जी कागजात के आधार पर बेच दी और उनसे करीब ढाई करोड़ रुपये लेकर खुर्द-बुर्द कर गए। पीड़ित एनआरआइ जब पिछले दिनों पंजाब लौटा तो उसे पूरी जालसाजी का पता चला। इसके बाद उसने मामले की शिकायत एसएसपी बठिंडा को दी। पुलिस की ईओ विंग ने जांच पड़ताल करने के बाद पीड़ित व्यक्ति की मां, बहन व जीजा समेत जमीन खरीदने वाली मां-बेटे समेत कुल पांच लोगों पर धोखाधड़ी समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर अगली कार्रवाई शुरू कर दी है। फिलहाल आरोपितों की गिरफ्तारी होनी बाकी है।

एनआरआइ हरिंदपाल सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह अमेरिका में रहता है और वर्तमान में चक इंदर सिंह वाला (बठिंडा) में रह रहा है।

वर्ष 1994 में वह अपने परिवार समेत अमेरिका चला गया था। इसके बाद वह वहां स्थायी नागरिक बन गया। वर्ष 2008 में उसके पिता मनमोहन सिंह की मौत हो गई थी। इसके बाद उसके पिता की सारी जमीन जायदाद उसकी हो गई। हालांकि अमेरिका में रहने के कारण वह पंजाब स्थित अपनी जमीन जायदाद की देखभाल नहीं कर पा रहा था। इसलिए उसने उसकी देखभाल के लिए मां अमरजीत कौर को मार्च 2008 में पावर आफ अटार्नी कर दी थी। 8 मई, 2021 को उसे पता चला कि उसकी बड़ी बहन बलप्रीत कौर चाैहान व मनप्रीत कौर ग्रेवाल ने उसकी जमीन जायदाद अपने नाम पर करवा ली है।

इसके बाद उसने अमेरिका से बठिंडा आकर जांच पड़ताल की तो पता चला कि उसकी मां अमरजीत कौर, बहन बलप्रीत कौर व मनप्रीत कौर ने मिलीभगत कर उसकी जमीन व कोठी को अपने नाम पर करवा लिया और फिर वे अमेरिका के कैलिफोर्निया शहर चले गए। जब उसने बठिंडा तहसील से रिकार्ड निकलवाकर जांच की तो पता चला कि मां अमरजीत कौर ने पावर आफ अटार्नी के जरिये सारी जमीन जायदाद व कोठी उसकी बड़ी बहन बलप्रीत कौर चौहान की नाम पर दी है। रजिस्ट्री अनुसार बलप्रीत काैर ने उस जमीन जायदाद की एवज में मां अमरजीत कौर को पांच किश्तों में करीब 2.50 करोड़ रुपये दिए हैं। रजिस्ट्री के समय उसकी दोनों बहनें बलप्रीत कौर व मनप्रीत कौर मौजूद थीं। बहन मनप्रीत कौर ने साजिश के तहत रजिस्ट्रार को उसका नंबर देने के बजाए अपने पति व उसके जीजा जतिंदर सिंह ग्रेवाल का नंबर देकर उन्हें हरिंदरपाल सिंह बना दिया। जतिंदर ग्रेवाल ने अपने आप को हरिंदरपाल सिंह बताकर उसकी जमीन की रजिस्ट्री करवा दी। जमीन की रकम हासिल करने के बाद आरोपितों ने उसके खाते में कोई भी पैसे ट्रांसफर नहीं किया।

शिकायतकर्ता के अनुसार आरोपित बलप्रीत कौर चौहान ने आगे उसकी सारी जमीन जायदाद व कोठी अपनी बेटी सिमरजीत कौर चौहान के नाम पर कर दी। पुलिस ने पूरे मामले की पड़ताल करने के बाद शिकायतकर्ता की मां अमरजीत कौर, बहन मनप्रीत कौर ग्रेवाल, जीजा जतिंदर ग्रेवाल निवासी कैलिफोर्निया, अमेरिका व बहन बलप्रीत कौर चौहान, भांजी मनप्रीत कौर चौहान निवासी मोहाली पर मामला दर्ज कर अगली कार्रवाई शुरू कर दी है।


error: Content is protected !!