कांगड़ा में घर में घुस कर ले ली जान, पुलिस समय पर नही पहुंची तो गांव वालों ने शिमला मटौर सड़क की बंद

हिमाचल प्रदेश में बीते कुछ दिनों से आपराधिक गतिविधियों में काफी तेजी से इजाफा देखने को मिला है और सूबे में हिंसात्मक झड़प की घटनाएं भी बढ़ गई हैं। इसी कड़ी में ताजा मामला प्रदेश के कांगड़ा जिले स्थित बीरता गांव से सामने आया है। जहां पर सुबह सवेरे जमीनी विवाद के चलते कुछ लोगों ने एक परिवार पर जानलेवा हमला किया। इस हमले में एक की मौत हो गई है और दो लोगों के घायल होने की सूचना मिली है। 

झगड़ा इतना बढ़ गया कि एक गुट ने हथियार ही चला दिए, जिसमें महिलाएं भी शामिल थीं। दराट से हुए हमले में एक गुट के पांच लोग घायल हो गए हैं, जिसमें दो गंभीर रूप से घायल हैं। बताया जा रहा है कि एक युवक की गर्दन में दराट का कट लगा है। गर्दन में गंभीर कट होने के चलते उसकी स्थित नाजुक बताई जा रही है। 

हमले में घायल हुए दोनों लोगों को इलाज के लिए पहले तो टांडा मेडिकल कॉलेज ले जाया गया, जहां से उनकी गंभीर हालत को देखते हुए PGI चंडीगढ़ के लिए रेफर कर दिया गया है। घटना की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक के शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमोर्टम के लिए भेज दिया है। वहीं, इस हत्याकांड के संबंध में मामला दर्ज कर आगामी छानबीन भी शुरू कर दी गई है। 

वहीं, इस वारदात से भड़के लोगों ने लगभग तीन घंटे तक बीरता में चक्का जाम किया। इसके बाद एसपी विमुक्त रंजन ने मौके पर पहुंच कर मामले के शांत करवाया और कार्रवाई का आश्वासन दिया। बताया गया कि बीरता में दो परिवारों की काफी समय से जमीनी विवाद चला हुआ है। पीड़ित परिवार का कहना है उन्होंने गुरुवार को पुलिस के पास शिकायत दर्ज करवाई गई थी लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। 

इसके बाद आज सुबह आरोपियों ने घर में घुसकर हमला कर तीन लोगों को घायल कर दिया। तीनों को पहले टांडा ले जाया गया जहां पर एक की मौत हो गई। इस पर गुस्साए लोगों सड़क जाम कर दी। लोगों का आरोप था कि पुलिस अगर समय रहते कार्रवाई करती तो हमला नहीं होता। इस दौरान गुस्साए लोगों ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी भी की। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी कांगड़ा विमुक्त रंजन मौके पर पहुंचे। 

उन्होंने डीएसपी कांगड़ा के साथ घटनास्थल का भी मुआयना दिया। एसपी ने लोगों से बातचीत कर मामले के आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का आश्वासन दिया। इस मामले में अभी 9 लोगों को गिरफ्तार किया है। जिसमें तीन महिलाएं भी शामिल हैं। 

error: Content is protected !!