नौकरी मीटर रीडर की और परिवार के पास करोड़ों की संपत्ति, ऑडी कार और बैंक्‍वेट हाल, जानें पूरा खेल

नौकरी बिजली विकास विभाग (पीडीडी) में मीटर रीडर की। ड्यूटी शहर के पाश इलाके गांधी नगर में। संपत्ति करीब ढाई करोड़ की। खुद घूमने के लिए स्कारपियो गाड़ी, पत्‍नी के लिए अलग स्कारपियो और बेटे के पास ऑडी कार। मीटर रीडर की पचास हजार रुपये की सामान्य नौकरी में करोड़ों रुपये के प्लाट खरीद भी कर रखे हैं और एक बैंक्‍वेट हॉल के साथ जिम भी है।

काली कमाई को खपाने के लिए मैसर्स एमके बिल्डिंग मेटेरियल के नाम पर कंस्ट्रक्शन कंपनी खोल रखी है और एक कोआपरेटिव सोसायटी भी बनाई है, जिसका चेयरमैन बेटे को बनाया है।

पीडीडी के इस करामाती मीटर रीडर सुरेंद्र सिंह पर एंटी करप्शन ब्यूरो (भ्रष्‍टाचार निरोधक ब्‍यूरो) ने शिकंजा कस दिया है। सुरेंद्र सिंह पर एफआइआर दर्ज करने के बाद मंगलवार को ब्यूरो की टीमों ने सुरेंद्र सिंह के ठिकानों पर एक साथ छापे मारे और उसकी संपत्ति देख हैरान रह गए। सुरेंद्र सिंह ने पूरी संपत्ति अपनी पत्‍नी, बेटे व अन्य परिजनों के नाम पर बनाई है।

करोड़पति मीटर रीडर का खजाना

परिवार के सदस्यों के नाम पर जम्मू में 7.8 एकड़ जमीन एक बैंक्‍वेट हाल एक शानदार जिम एक कनाल से अधिक जमीन पर शानदार घर एक आडी कार, दो स्कारपियो, एक ट्रैक्टर व एक मोटरसाइकिल कोऑपरेटिव सोसाइटी बनाकर प्रापर्टी डीलर का काम बिल्डिंग मेटेरियल का बिजनेस

एंटी करप्शन ब्यूरो को शिकायत मिली थी कि पीडीडी मीटर रीडर सुरेंद्र सिंह ने अपनी आय के ज्ञात स्रोतों से अधिक की संपत्ति अर्जित की है। प्रारंभिक जांच में इसकी पुष्टि होने पर ब्यूरो ने यह कार्रवाई की। दिन भर चली इस जांच के दौरान पता चला कि अप्पर ठठर निवासी सुरेंद्र सिंह व उसके परिवार के सदस्यों के नाम पर जम्मू में 7.8 एकड़ जमीन है। इसमें कई ऐसे प्लाट हैं, जिनकी कीमत लाखों में है।

बरन में ओएसिस फार्म्‍स के नाम पर एक बैंक्‍वेट हाल व उसी क्षेत्र में एक शानदार जिम भी खोल रखा है। सुरेंद्र सिंह ने अप्पर ठठर में एक कनाल से अधिक जमीन पर शानदार घर बना रखा है। सारा कारोबार वह अपनी पत्नी मीनाक्षी के नाम पर चलाता है। उसका बेटा कुनाल सिंह बैंक्‍वेट हाल व जिम का कारोबार देखता है और कोआपरेटिव सोसायटी बनाकर प्रापर्टी डीलर का काम कर रहा है।

परिवार के पास एक ऑडी कार, दो स्कॉर्पियो, एक ट्रैक्टर व एक मोटरसाइकिल है। ब्यूरो की जांच में पता चला कि काली कमाई को छुपाने के लिए सुरेंद्र सिंह ने अपनी पत्नी के नाम पर मैसर्स एमके बिल्डिंग मेटेरियल का बिजनेस शुरू किया है। हालांकि उसकी पत्नी के पास ऐसा बिजनेस शुरू करने का कोई आर्थिक स्रोत नहीं था। प्रारंभिक जांच में सुरेंद्र सिंह के पास 2.37 करोड़ रुपये की संपत्ति होने का पता चला है।

बैंक खातों व लॉकरों से जुड़े दस्तावेज भी जब्त :

 छापेमारी के दौरान ब्यूरो की टीमों ने सुरेंद्र सिंह व उसके परिवार के सदस्यों के बैंक खातों व लॉकरों से जुड़े दस्तावेज भी जब्त किए हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि इनकी जांच के दौरान और भी कई खुलासे होंगे। सूत्रों के अनुसार, सुरेंद्र सिंह के ही पांच बैंकों में खाते हैं जिनमें लाखों रुपये जमा होने के साथ कुछ एफडी होने की भी पुष्टि हुई है।

Please Share this news:
error: Content is protected !!